Home समाचार इजरायल के पीएम पर लगे आरोपों से फूटा जनता का गुस्सा, प्रदर्शनकारियों...

इजरायल के पीएम पर लगे आरोपों से फूटा जनता का गुस्सा, प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने खदेड़ा | rest-of-world – News in Hindi

इजरायल के पीएम पर लगे आरोपों से फूटा जनता का गुस्सा, प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने खदेड़ा

इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू के आवास के बाहर प्रदर्शनकारी

इज़रायली पुलिस ने शनिवार को प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) के आवास के बाहर प्रदर्शनकारियों (Protesters) को खदेड़ने के लिए वॉटर कैनन (Police Used Water Canon) का इस्तेमाल किया गया था.

येरूशलम. इज़रायली पुलिस ने शनिवार को प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) के आवास के बाहर प्रदर्शनकारियों (Protesters) को खदेड़ने के लिए वॉटर कैनन (Police Used Water Canon) का इस्तेमाल किया गया था. प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार के आरोप और कोरोनो वायरस संकट से निपटने की उनकी विफल रणनीति के कारण उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. बढ़ती बेरोजगारी की मार, कोविड-19 मामलों में वृद्धि और कोरोनोवायरस के कारण दुबारा लगाए जा रहे प्रतिबंधों के कारण इजरायल की जनता सरकार के खिलाफ लगभग रोज सड़कों पर प्रदर्शन कर रही है.

नेतन्याहू पर लगे हैं भ्रष्ट्राचार और धोखाधड़ी के आरोप

नेतन्याहू के खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण जनता का गुस्सा भड़क उठा है. मई में उन पर रिश्वत, धोखाधड़ी जैसे कई आरोपों के चलते मुकदमा हुआ लेकिन वे लगातार आरोपों से इनकार करते रहे हैं. सैकड़ों लोग यरुशलम में प्रधानमंत्री के आवास के बाहर होकर नेतन्याहू के इस्तीफे की मांग कर रहे थे. पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए वाटर कैनन का इस्तेमाल किया. पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है.

इजरायल में बढ़ रही है बेरोजगारीइजरायल के वाणिज्यिक केंद्र तेल अवीव में एक बीच पर हजारों लोगों ने रैली निकाल कर कोरोनावायरस प्रतिबंधों से नुकसान झेल रहे व्यवसायों के लिए ऐसे लोग जिनकी नौकरी चली गई है या जिन्हें बिना वेतन के छुट्टी पर भेज दिया है, के लिए सरकारी सहायता की मांग की. वर्तमान में इजरायल में बेरोजगारी दर 21% हो गई है. इजरायल ने मई में स्कूलों और कई व्यवसायों को फिर से खोला और उन प्रतिबंधों को भी हटाया उठाया जो मार्च में लगाए गए थे.

कोरोना के बढ़ रहे संक्रमण से नाराज है जनता

पिछले कुछ हफ्तों में कोरोना की संक्रमण दर में तेजी से आई वृद्धि को देखते हुए कई सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने कहा कि सरकार ने अर्थव्यवस्था को फिर से खोलने के लिए कदम उठाने में कुछ ज्यादा जल्दी दिखाई है जिससे महामारी को नियंत्रित करने के लिए आवश्यक कदम उठाने की उपेक्षा की गई है. नेतन्याहू ने देश में कोरोना के कारण पैदा हुए आर्थिक हालातों को काबू करने के लिए कई आर्थिक सहायता पैकेजों की घोषणा की है. कुछ लोगों का कहना है कि कुछ राहत पैकेजों को आने में बहुत अधिक समय लग रहा है जबकि कुछ पैकेजों को अप्रभावी बताया जा रहा है.

ये भी पढ़ें: ट्विटर ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ट्वीट की डिलीट, जानिए क्या है मामला

नेपाल के किसानों ने लोन लेकर भारत से खरीदा यूरिया, पुलिस ने किया जब्त

इजरायल ने मई में स्कूलों और कई व्यवसायों को फिर से खोला और उन प्रतिबंधों को भी हटाया जो मार्च में लगाए गए थे. 90 लाख की आबादी वाले इज़रायल में लगभग 50,000 कोरोनोवायरस के मामले दर्ज हुए हैं और लगभग 400 लोगों की मौत की सूचना है.

Source link

Leave a Reply

Most Popular

MHA ने सिनेमा हॉल को 15 अक्टूबर से 50% क्षमता पर संचालित करने की अनुमति दी: बॉलीवुड समाचार – बॉलीवुड हंगामा

गृह मंत्रालय द्वारा अनलॉक 5.0 दिशानिर्देशों ने फिल्म निर्माताओं और थिएटर मालिकों को एक बड़ी राहत प्रदान की है क्योंकि केंद्र...

Project Manager – UIDAI , Bangalore

Apply for the job now! Job title: Project Manager - UIDAI , Bangalore Company: National Institute for Smart Government Apply for the job now! Job description: Education: ...
%d bloggers like this: