Friday, October 2, 2020
Home Entertainment Television कंगना रनौत के सपोर्ट में उतरीं 'गोपी बहू', ऑफिस बिल्डिंग गिराए जाने...

कंगना रनौत के सपोर्ट में उतरीं ‘गोपी बहू’, ऑफिस बिल्डिंग गिराए जाने पर जाहिर किया गुस्सा

कंगना रनौत के सपोर्ट में उतरीं 'गोपी बहू', ऑफिस बिल्डिंग गिराए जाने पर जाहिर किया गुस्सा

देवोलीना भट्टाचर्जी और कंगना रनौत (Photo Credit- @Kanganaranaut/@devoleena)

गोपी बहू (Gopi Bahu) के नाम से मशहूर एक्ट्रेस देवोलीना भट्टाचर्जी (Devoleena Bhattacharjee) ने बीएमसी (BMC) द्वारा कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के ऑफिस की बिल्डिंग (Office Building) गिराए जाने के मामले पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 9, 2020, 8:15 PM IST

मुंबई. बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के ऑफ‌िस पर बीएमसी (BMC) ने तोड़-फोड़ की है. उनके मुंबई पहुंचने से पहले ही बीएमसी के कर्मचारियों ने कंगना के ऑफिस के अवैध हिस्‍से पर कार्रवाई शुरू कर दी थी. वहीं इस मामले को लेकर सोशल मीडिया (Social Media) पर भी जबरदस्त हंगामा देखने को मिला. जहां एक तरफ कंगना को लेकर बॉलीवुड (Bollywood) सितारों का चुप्पी पर सवाल उठे वहीं दूसरी तरफ छोटे पर्दे पर ‘गोपी बहू’ (Gopi Bahu) के नाम से मशहूर हो चुकीं एक्ट्रेस देवोलीना भट्टाचर्जी (Devoleena Bhattacharjee) ने इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कंगना की गौरमौजूदगी में उनके ऑफिस की बिल्डिंग गिराए जाने पर गुस्सा जाहिर किया है.

देवोलीना ने अपने ट्विटर एकाउंट पर कंगना के एक पोस्ट रीट्वीट किया है, इस ट्वीट में कंगना ने अपनी तोड़ी हुई ऑफिस बिल्डिंग की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा- ‘Pakistan…. #deathofdemocracy’. वहीं उनके इस पोस्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए देवोलीना ने लिखा- Sad sad sad.. वाकई #deathofdemocracy. इसके अलावा स्पॉटबॉय से बातचीत में भी देवोलीना ने भी इस मामले पर प्रतिक्रिया दी है. यहां देखें देवोलीना द्वारा शेयर किया गया पोस्ट-

देवोलीना ने कहा- ‘एक जाना-पहचाना चेहरा होने के चलते, मुझे नहीं लगता कि उन्होंने कोई अवैध निर्माण किया होगा और उन्होंने ये भी कहा है कि उनके पास बीएमसी द्वारा दी गई परमीशन के सबूत भी हैं. ऐसे में उनके मुंबई पहुंचने और कागजात दिखाने से पहले बिल्डिंग गिराना, सही नहीं है. मुझे लगता है कि उन्हें इंतजार करना चाहिए था और उन्हें एक अल्टीमेटम देना चाहिए था, अगर कुछ गलता था और उसे फिक्स किया जाना था तो लेकिन उनकी अनुपस्थिति में ऑफिस का तोड़ा जाना गलता है’.

देवोलीना का कहना है कि ‘ये उनके द्वारा किया गया बहुत अजीब काम है और मैं इसे बिल्कुल सपोर्ट नहीं करती हूं. अगर कुछ मौखिक रूप से शुरू हुआ है तो उन्हें इस पर मौखिक रूप से ही जवाब देना चाहिए था’.

! function(f, b, e, v, n, t, s) { if (f.fbq) return; n = f.fbq = function() { n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments) }; if (!f._fbq) f._fbq = n; n.push = n; n.loaded = !0; n.version = ‘2.0’; n.queue = []; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e)[0]; s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’); fbq(‘init’, ‘482038382136514’); fbq(‘track’, ‘PageView’);

Source link

Leave a Reply

Most Popular

%d bloggers like this: