Friday, September 18, 2020
Home Health Health Care / स्वास्थ्य काजू में कम होता है कोलेस्ट्रॉल, सही तरीके से खाएं तो हार्ट...

काजू में कम होता है कोलेस्ट्रॉल, सही तरीके से खाएं तो हार्ट को हो सकता है फायदा

काजू  (Cashew) पोषक तत्वों से भरपूर नट्स है. इसका उपयोग ज्यादातर भारतीय मिठाइयों या मीठे पकवानों जैसे काजू कतली, खीर आदि में किया जाता है. काजू शरीर को कई तरह से स्वास्थ्य लाभ देता है. काजू का सेवन विशेष रूप से हृदय (Heart) के लिए फायदेमंद है. myUpchar के डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि काजू खाने से शरीर का मेटाबॉलिज्म  (Body Metabolism) सही रहता है और दिल की बीमारी दूर होती है. इसमें मैग्नीशियम, कॉपर, मैंगनीज, जिंक, पोटेशियम, सेलेनियम जैसे मिनरल्स होते हैं, जो सेहत (Health) बनाए रखते हैं. काजू में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बहुत कम होता है और इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स दिल की बीमारियों को दूर रखते हैं. काजू स्वस्थ आहार वसा के महान स्रोत हैं, जिसमें मोनोअनसैचुरेटेड वसा और पॉलीअनसैचुरेटेड वसा शामिल हैं, जो दिल के साथ-साथ शरीर के लिए भी अच्छे हैं. ये वसा एलडीएल कोलेस्ट्रॉल (खराब कोलेस्ट्रॉल) को कम करने में मदद करता है, जिसके बढ़ने पर हृदय संबंधी रोग हो सकते हैं जैसे एथेरोस्क्लेरोसिस या धमनियों का सख्त होना.

ये भी पढ़ें – नाइट्रोग्लिसरीन : दिल के रोगी हमेशा साथ रखें ये दवा, लेकिन सेवन से पहले रखें सावधानी

काजू में पाया जाने वाला ओलिक एसिड (मोनोअनसैचुरेटेड फाइबर का एक रूप) हृदय रोगों के खतरे को कम करने में मदद करता है. काजू असंतृप्त वसा एचडीएल कोलेस्ट्रॉल (अच्छे कोलेस्ट्रॉल) के स्तर को बढ़ाने, ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करने और यहां तक कि ब्लड प्रेशर को कम करने में भी मदद करता है. काजू की लो ब्लड प्रेशर की क्षमता भी इसके उच्च पोटेशियम और कम सोडियम कंटेन्ट के कारण होती है. यह अनुपात बीपी को नियंत्रण में रखता है और हाई ब्लड प्रेशर, दिल के दौरे और स्ट्रोक के जोखिम को कम करता है.ये भी पढ़ें – स्वस्थ जीवन जीने के लिए अपनी डाइट में ये चीजें जरूर शामिल करें

काजू दिल की धड़कन के लिए अच्छे होते हैं. काजू में कॉपर की प्रचुर मात्रा आयरन के मेटाबॉलिज्म में मदद करती है, जो अनियमित दिल की धड़कन को रोकता है. काजू में विटामिन-ई की सापेक्ष मात्रा होती है जो धमनियों में प्लाक के निर्माण को बाधित करने और रक्त के प्रवाह को कम करने की क्षमता रखती है.

काजू में मौजूद एक अन्य आवश्यक पोषक तत्व फाइबर है. यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर, ब्लड प्रेशर, सूजन को कम करता है और हृदय के स्वास्थ्य में सुधार करता है. काजू में ओमेगा-3 फैटी एसिड की लाभकारी मात्रा होती है जो दिल की धड़कन को बनाए रखती है और इसे असामान्य होने से रोकती है. एल-आर्जिनिन काजू में पाया जाने वाला एक और कम्पाउंड है जो रक्त प्रवाह को साफ रखता है, रक्त के थक्के बनने से रोकता है और इस तरह हृदय को स्वस्थ रखता है.

ये भी पढ़ें – Monsoon Season Kitchen Garden: मानसून के समय लोगों को दे सकता है स्वस्थ जीवन

इस बात का ख्याल रखना जरूरी है कि कोई भी चीज खाने में कितनी भी फायदेमंद क्यों न हो, ज्यादा सेवन स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है. एक दिन में 5-6 काजू खाने से लाभ मिलता है. इसे एक हेल्दी स्नैक के रूप में खा सकते हैं और जंक फूड खाने के लिए अपनी इच्छा पर नियंत्रण रख सकते हैं. सुबह के समय काजू खाना ज्यादा फायदेमंद होता है. इसे ब्रेकफास्ट के साथ भी खा सकते हैं.

अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, नमक के फायदे और नुकसान पढ़ें।

NotSocommon पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।

! function(f, b, e, v, n, t, s) { if (f.fbq) return; n = f.fbq = function() { n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments) }; if (!f._fbq) f._fbq = n; n.push = n; n.loaded = !0; n.version = ‘2.0’; n.queue = []; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e)[0]; s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’); fbq(‘init’, ‘482038382136514’); fbq(‘track’, ‘PageView’);

Source link

Leave a Reply

Most Popular

पानी के तेज़ बहाव की वजह से फंसा कुत्ता, होम गार्ड ने अपनी जान जोखिम में डालकर बचाया|viral Videos in Hindi – हिंदी...

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी...

दूध पचने में होती है दिक्कत? लैक्टोज इनटॉलरेंस की समस्या तो नहीं…

कई लोगों को यह कहते हुए सुना होगा कि उन्हें दूध पीना सूट नहीं होता या उन्हें दूध पचता नहीं है. ऐसे कई लोग...

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी – तनिष्ठा चटर्जी की रोम रोम में और विद्या बालन की नटखट के साथ लंदन में प्रदर्शित होने वाली भारतीय फ़िल्म महोत्सव...

बागड़ी फाउंडेशन लंदन इंडियन फिल्म फेस्टिवल (LIFF) और बर्मिंघम इंडियन फिल्म फेस्टिवल (BIFF), एक साथ यूरोप के सबसे बड़े भारतीय फिल्म...
%d bloggers like this: