Thursday, October 1, 2020
Home Health Health Care / स्वास्थ्य कोरोना काल में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए खा रहे हैं विटामिन की...

कोरोना काल में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए खा रहे हैं विटामिन की टैबलेट, हो सकता है ये नुकसान

कोरोना वायरस (Corona virus) से बचने के लिए इम्यून सिस्टम (Immune system) को मजबूत रखना बहुत जरूरी है. कोरोना और मानसून (Mansoon) में होने वाले संक्रमण उन लोगों को अपना शिकार आसानी से बनाते हैं, जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है. इसके लिए लोग तरह-तरह के उपायों को अपना रहे हैं. इनमें से बहुत सारे लोग इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए विटामिन (Vitamin) को टैबलेट खा रहे हैं.

विशेषज्ञों का कहना है कि शरीर में विटामिन की पर्याप्त मात्रा होने पर कोरोना संक्रमण एकदम से हमला नहीं कर पाता है. ऐसे में लोग विटामिन की खपत बढ़ा रहे हैं, लेकिन शरीर में विटामिन के स्तर को बढ़ाने के लिए इसकी गोलियों और कैप्सूल का इस्तेमाल करना कई समस्याओं का कारण बन सकता है. भारत के विभिन्न शहरों में बहुत से रोगी सामने आ रहे हैं जो विटामिन के अत्यधिक इस्तेमाल के कारण बीमार हैं. विटामिन का अत्यधिक उपयोग करने से स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं. विटामिन के अत्यधिक उपयोग से पेट में जलन, गले में खराश और थकान जैसी समस्याएं हो सकती हैं. विशेषज्ञों के मुताबिक विटामिन सप्लीमेंट के इस्तेमाल से बचना चाहिए.

विटामिन ए आंखों को स्वस्थ रखने में मददगार है, लेकिन एक शोध के अनुसार, शरीर में विटामिन ए की खुराक बढ़ाने से आंखों को नुकसान होता है. विशेषज्ञों के अनुसार, विटामिन ए केवल भोजन द्वारा लिया जाना चाहिए. myUpchar के डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि विटामिन ए की अत्यधिक मात्रा लेना हानिकारक हो सकता है. सिरदर्द, दस्त, बाल गिरना, देखने में दिक्कत, थकावट, स्किन खराब हो जाना, हड्डी और जोड़ों में दर्द, हृदय को नुकसान पहुंचाना और लड़कियों में असमय मासिक धर्म जैसी समस्या हो सकती है. गर्भवती महिला में गर्भ के दौरान विटामिन ए की मात्रा अधिक लेने से पेट में पलते बच्चे को नुकसान हो सकता है.

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन ने शरीर पर विटामिन ई के प्रभाव पर एक शोध किया था. इस शोध के अनुसार, ज्यादा मात्रा में विटामिन ई का सेवन करने से आंखों की रोशनी कम हो सकती है. खाद्य पदार्थों से विटामिन ई लेना खतरनाक नहीं है. मुसीबत शुरू होती है जब पूरक आहार के जरिए डॉक्टर द्वारा बताई गई खुराक से अधिक लिया जाता है. विटामिन ई की अधिक मात्रा होने से अत्यधिक रक्तस्त्राव और थकान सहित कई अन्य बीमारियां हो सकती हैं. इससे खून पतला भी होता है इसलिए किसी सर्जरी या ऑपरेशन से पहले इसकी खुराक नहीं लेनी चाहिए.विटामिन बी1 का ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल करने से त्वचा में एलर्जी, नींद नहीं आना, होठों का नीला पड़ना, सीने में दर्द और सांस से जुड़ी बीमारी हो सकती है. बी3 की अधिकता होने से पेप्टिक अल्सर और त्वचा पर रेशेज जैसी कई समस्याएं होती है. बी6 की ज्यादा मात्रा से पेट में अकड़न हो सकती है. बी12 की ज्यादा मात्रा गर्भवती महिला के लिए अच्छी नहीं होती है. विटामिन बी12 का ज्यादा इस्तेमाल चक्कर आना, सिर में दर्द, त्वचा की खुजली जैसी समस्याओं का कारण बन सकता है.

अधिक मात्रा में विटामिन डी लेने के नुकसान भी हैं. यह एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करता है जो कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाता है. अधिक सेवन से शरीर में कैल्शियम की मात्रा अधिक हो जाती है, जिसके कारण शरीर में अनेक प्रकार की समस्याएं होने लगती हैं, जैसे भूख न लगना, बार-बार पेशाब आना, कमजोरी होना, हार्ट अटैक का खतरा आदि.

 

Source link

Leave a Reply

Most Popular

National Voluntary Blood Donation Day: जानें रक्तदान से जुड़े मिथ और उनकी सच्चाई

हर वर्ष 1 अक्टूबर को भारत में राष्ट्रीय स्वैच्छिक रक्तदान दिवस (National Voluntary Blood Donation Day) मनाया जाता है. साल 1975 में इस दिन...

रवि किशन को मौत की धमकी मिलने के बाद वाई + सिक्योरिटी मिली, ड्रग्स नेक्सस पर अपनी टिप्पणी पोस्ट की: बॉलीवुड समाचार – बॉलीवुड...

बीजेपी सांसद रवि किशन ने हाल ही में बॉलीवुड इंडस्ट्री में ड्रग्स नेक्सस पर कुछ बोल्ड टिप्पणी की थी और उनके...
%d bloggers like this: