भारत में कोरोना वायरस के अब तक 315 मामले सामने आ चुके हैं. (प्रतीकात्मक)

पिछले दिनों कई धार्मिक संस्थानों (religious institutions) ने सरकार के आदेश को न मानते हुए कई कार्यक्रम किए जहां हजारों लोग इकट्ठा हुए थे.

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (coronavirus) को फैलने से रोकने के लिए सरकार लगातार लोगों से अपील कर रही है. इसके बावजूद सरकारी गाइडलाइंस को नजरअंदाज किया जा रहा है. पिछले दिनों कई धार्मिक संस्थानों (religious institutions) ने सरकार के आदेश को न मानते हुए कई कार्यक्रम किए, जहां हजारों लोग इकट्ठा हुए थे. अब इनके खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है. इनमें ज्यादातर धार्मिक स्थल दक्षिण भारत के हैं. इसके अलावा घर में आइसोलेट होने वाले गाइडलाइंस को भी कई लोगों ने नजरअंदाज किया है. विदेश से लौटने वाले लोगों को सरकार ने कम से कम दो हफ्ते के लिए घर में रहने को कहा है, लेकिन कई लोग इसका पालन नहीं कर रहे हैं.जिन धार्मिक संस्थानों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है ये है उनकी पूरी लिस्ट >श्री कृष्णा स्वामी मंदिर के आयोजकों के खिलााफ केस दर्ज किया गया है. मंदिर के आयोजकों ने एक कार्यक्रम का आयोजन किया, जिसमें करीब 300 लोग शामिल हुए थे. >पेरुवनथानम वेलियाकावु मंदिर और त्रिचम्बरम श्री क्रृष्णा स्वामी मंदिर> थाड़िक्कद मुस्लिम जुमा अथ के आयोजकों ने नमाज का आयोजन किया था, जिसमें 300 लोग शामिल हुए थे > मादाकिमुला जामा मस्जिद में भी नमाज के लिए सौ से ज्यादा लोग पहुंचे थे. > इसके अलावा मत्तनुर, कन्नुर, इरित्ती, पुनालुर और अलांचेरी में भी कई धार्मिक स्थलों पर केस दर्ज किया गया है. > इसके अलावा घर में खुद को आईसोलेट न करने वाले तिरुवनंतपुरम के मोहम्मद हुसैन, कोट्टम के मुरुकान और कासगोड़ के अब्दुल खादेड़ के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.दुनिया भर में हड़कंपविश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि पूरी दुनिया में संक्रमण के 2 लाख 10 हजार से भी ज्यादा मामले दर्ज हुए हैं. बीमारी की चपेट में आकर 9 हजार लोगों की जान चली गई है. हर दिन के साथ बीमारी की भयावहता बढ़ती जा रही है.
ये भी पढ़ें:Corona Positive कनिका कपूर इलाज के दौरान दिखा रही हैं नखरे, हॉस्पिटल परेशान!योगी सख्‍त, Janata Curfew के दौरान कानून-व्यवस्था से खिलवाड़ पड़ सकता है महंगा

Notsocommon पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: March 22, 2020, 8:52 AM IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here