Friday, September 18, 2020
Home Health Health Care / स्वास्थ्य क्या हार्ट अटैक के मरीज कर सकते हैं सेक्स? जानिए एक्सपर्ट्स की...

क्या हार्ट अटैक के मरीज कर सकते हैं सेक्स? जानिए एक्सपर्ट्स की राय

क्या हार्ट अटैक के मरीज कर सकते हैं सेक्स? जानिए एक्सपर्ट्स की राय

हार्ट अटैक झेल चुके पुरुषों और महिलाओं ने बताया कि किसी तरह सेक्स करने के दौरान उन्हें बेडरूम में ही जान गंवाने का डर सताता है.

सेक्स (Sex) तके समय हार्ट (Heart) को अतिरिक्त काम करना पड़ता है. जैसे-जैसे एक्साइटमेंट बढ़ती है, धड़कनें तेज होती जाती हैं और हार्ट को ब्लड (Blood) की ज्यादा पम्पिंग करना पड़ती है, इसी कारण शरीर में ऑक्सीजन (Oxygen) का स्तर बढ़ता है.



  • Last Updated:
    August 14, 2020, 4:28 PM IST

सेक्स (Sex) जिंदगी का अहम हिस्सा है. कई लोगों के मन में सवाल उठता है कि हार्ट अटैक (Heart Attack) आने के बाद भी क्या सेक्स जारी रखना चाहिए? सवाल बहुत अहम है, लेकिन लोग डॉक्टरों से सीधे बात करने में हिचकिचाते हैं. अमेरिका में कई कार्डियोलॉजिस्ट से चर्चा के बाद प्रकाशित रिपोर्ट में इसका जवाब दिया गया है. इन एक्सपर्ट्स का कहना है कि हार्ट अटैक के बाद भी मरीज सेक्स लाइफ (Sex Life) जारी रख सकता है. दरअसल, सेक्स के दौरान हार्ट को अतिरिक्त काम करना पड़ता है. जैसे-जैसे एक्साइटमेंट बढ़ती है, धड़कनें तेज होती जाती हैं और हार्ट को ब्लड की ज्यादा पम्पिंग करना पड़ती है, इसी कारण शरीर में ऑक्सीजन का स्तर बढ़ता है. इस कारण लोगों के मन में दूसरी बार हार्ट अटैक का डर बना रहता है. विशेषज्ञ कहते हैं कि सेक्स हार्ट के लिए उतना भी जोखिम भरा नहीं है, जितना सोचा जाता है. इसलिए हार्ट के मरीज बिना किसी चिंता के दोबारा सेक्स लाइफ एक्टिव कर सकते हैं.

क्यों लगता है बेडरूम में ही मर जाने का डर?

द अमेरिकन जर्नल ऑफ कार्डियोलॉजी में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, हार्ट अटैक के बाद 60 फीसदी महिलाओं की सेक्स लाइफ पहले जितनी एक्टिव नहीं रही. कारण- उनमें दोबारा हार्ट अटैक का डर बना हुआ था. हार्ट अटैक झेल चुके इन पुरुषों और महिलाओं ने बताया कि किसी तरह सेक्स करने के दौरान उन्हें बेडरूम में ही जान गंवाने का डर सताता है. जब धड़कनें बढ़ती हैं और पसीना छूटना शुरू होता है तो उन्हें हार्ट अटैक के लक्षण नजर आने लगते हैं. खासतौर पर महिलाओं में यह डर अधिक होता है. पहले हार्ट अटैक के बाद महिलाएं डिप्रेशन में चली जाती हैं और इसका असर सेक्स लाइफ पर पड़ता है. अमेरिका में कार्डियोवेस्क्युलर हेल्थ क्लीनिक के कार्डियोलॉजिस्ट बताते हैं कि इस बारे में डॉक्टरों को मरीज से बात करनी चाहिए. यदि हार्ट का मरीज दोबारा सामान्य जिंदगी शुरू करेगा, पहले की तरह सेक्स करेगा तो उसकी सेहत के लिए अच्छा होगा.हार्ट के लिए अच्छा है सेक्स

myUpchar से जुड़े एम्स के डॉ. नबी वली के अनुसार, हार्ट अटैक तब आता है जब हार्ट तक जाने वाले ऑक्सीजन युक्त खून का प्रवाह अवरुद्ध हो जाता है. ऐसा कई कारणों से हो सकता है, जिनमें वसा, कोलेस्ट्रॉल बढ़ना शामिल हैं. द अमेरिकन जर्नल ऑफ कार्डियोलॉजी की रिपोर्ट में सेक्स को हार्ट के लिए अच्छा बताया गया है. एक बार हार्ट अटैक का सामना कर चुके 10,000 मरीजों पर अध्ययन किया गया. ये सभी हफ्ते में एक बार सेक्स करते थे. पाया गया कि केवल दो या तीन में दूसरी बार हार्ट अटैक आने का खतरा रहा. वहीं, सेक्स के दौरान हार्ट की एक्सरसाइज उसे स्वस्थ बनाती है. रिपोर्ट के मुताबिक, सेक्स के दौरान हार्ट अटैक से मरने की आशंका न के बराबर है. यह आंकड़ा 0.6 फीसदी से 1.7 फीसदी है और इनमें भी 82 फीसदी से 92 फीसदी तक पुरुष हैं.

हार्ट अटैक के बाद खुद को सेक्स के लिए ऐसे तैयार करें

हार्ट अटैक के बाद यूं तो सेहत का पूरा ख्याल रखना जरूरी होता है, लेकिन सेक्स लाइफ फिर से एक्टिव करने के लिए भी कुछ कदम उठाए जा सकते हैं. इसे हार्ट रिहेब या कार्डियक रिहेबिलिटेशन प्रोग्राम कहा जाता है. myUpchar से जुड़े एम्स के डॉ. नबी वली के अनुसार, इसके लिए जरूरी हैं, एक्टिव लाइफ शुरू करें, स्वास्थ्यवर्धक चीजें खाएं, हार्ट को नुकसान पहुंचाने वाले पहलुओं, जैसे- ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल, डायबिटीज, स्मोकिंग को कंट्रोल करें.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, सेक्स क्या है – इसके फायदे और नुकसान पढ़ें. NotSocommon पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

! function(f, b, e, v, n, t, s) { if (f.fbq) return; n = f.fbq = function() { n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments) }; if (!f._fbq) f._fbq = n; n.push = n; n.loaded = !0; n.version = ‘2.0’; n.queue = []; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e)[0]; s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’); fbq(‘init’, ‘482038382136514’); fbq(‘track’, ‘PageView’);

Source link

Leave a Reply

Most Popular

%d bloggers like this: