हेल्थ डेस्क. वैसे तो गर्मी से राहत पाने के लिए आप कई तरह के उपाय अपनाते हैं,लेकिन अगर नियमित रूप से कुछ समय इन योगासन को किया जाए तो गर्मी का अहसास कम हाेता है। यह दिमाग को शांत रखने में भी मदद करते हैं।

  1. ....

    सबसे पहले शरीर को आराम की मुद्रा में लाकर अपने सिर, गले और स्पाइन को एक सही स्थिति में रखकर आराम से बैठ जाएं। इस प्राणायाम में मुंह खोलकर जुबान की नाली बनाकर नाली के द्वारा सांस धीरे-धीरे लय में अंदर खींचें। फिर मुंह बंद कर कुछ देर तक सांस अंदर रोककर रखने के बाद नाक से निकाल दें। इसे आठ या दस बार करें।

    इसके फायदे

    • भूख और प्यास का स्तर नियंत्रित रहता है और मन शांत होता है।
    • शरीर में ठंडक बनी रहती है।
    • पित्त को समाप्त करने में मदद करता है और रक्तचाप नियंत्रित करता है।
  2. ...

    दंडासन में बैठ जाएं। फिर घुटने मोड़कर फैलाएं और पैरों को कदमों के पास धड़ से सटाकर रखिए। जांघों को फैलाइये और घुटनों को जमीन की ओर दबाएं। अब रीढ़ की हड्डी को सीधा रखकर सामान्य सांस लेते हुए एक से पांच मिनिट की अवधि तक रोकने का प्रयास करें। इसे पीठ के बल भी कर सकते हैं।

    इसके फायदे

    • यह आसन बाहर तेज गर्मी के बावजूद शरीर को ठंडा रखने में मदद करता है।
    • थकान और तनाव को दूर करने में यह फायदेमंद है।
    • सायटिका, हर्निया में लाभकारी है।
  3. ....

    जमीन पर पीठ के बल एकदम सीधे लेट जाएं। दोनों हथेलियों को अपने शरीर से एक से डेढ़ फीट की दूरी पर रखें। हथेलियों को ऊपर की तरफ खुला रखें और उंगलियों को हल्का सा मोड़ें। दोनों पैरों को सीधे रखें और इन्हें आपस में चिपकाएं नहीं। दोनों पैरों के बीच में दूरी बनाए रखें और आराम की मुद्रा में लेटें। दोनों आंखें बंद रखें और सिर एवं रीढ़ को बिल्कुल सीधा रखें। इस विचार के साथ आंखें बंद कर इस मुद्रा की 3 से 5 मिनट तक प्रैक्टिस करें और राहत महसूस करें।

    इसके फायदे

    • इससे गर्मी में ताजगी का अहसास होता है।
    • इसे करने से नसों को आराम मिलता है और ऑक्सीजन पूरे ब्लड में फ्लो करती है जिससे शरीर में ठंडक बनी रहती है।
    • यह तनाव दूर करने में भी मदद करता है।
  4. ...

    सबसे पहले अपने शरीर को आराम की मुद्रा में लाकर सिर, गले और स्पाइन को एक सही स्थिति में रखें और आराम से बैठ जाएं। शीतकारी में दांतों को भींचकर सांस खींचें। कुछ देर तक रोककर रखने के बाद, होंठ बंद कर, नाक से सांस निकाल दें। इसे भी आठ से दस बार करें।

    इसके फायदे

    • भूख और प्यास का स्तरनियंत्रित रहता है और मनशांत होता है।
    • शरीर में ठंडक बनीरहती है।
    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      benefits of yogasan in summer



      Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here