Monday, October 19, 2020
Home Money Making Tips गोल्ड से मोटी कमाई का शानदार मौका, जानें क्यों मिलेगा बेहतर रिटर्न

गोल्ड से मोटी कमाई का शानदार मौका, जानें क्यों मिलेगा बेहतर रिटर्न

नई दिल्ली. नए साल की शुरुआत से पीली धातु में लगातार तेजी देखने को मिल रही है. 2020 के पहले सप्ताह में ही सोना का भाव 42 हजार रुपये से अधिक पहुंचा था. इसके बाद से सोने के भाव (Gold Rate) में लगातार तेजी देखने को मिल रही है. ​पिछले एक साल में सोने के भाव में करीब 25 फीसदी की तेजी दर्ज की गई है. ऐसे में ये जानना जरूरी है कि क्या सोने के भाव में इस तेजी के दौर को देखते हुए सोना में निवेश (Investment in Gold) करना एक बेहतर विकल्प बन सकता है.

पोर्टफोलियो डाइवर्सिफाई करने का मौका
अधिकतर म्यूचुअल फंड मैनेजर्स (Mutual Fund Manager) का मानना है कि रणनीतिक तौर पर सोने में निवेश करना एक बेहतर विकल्प हो सकता है. कहा जाता है कि सोना पोर्टफोलियो ​(Investment Portfolio) का दायरा बढ़ाने में भी मदद करता है. साथ ही, वैश्विक स्तर पर कई तरह की अनिश्चित्तताओं को देखते हुए कहा जा सकता है कि बचत के लिए सोना एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है.

वैश्किव संकट में सोना बन सकता है सेवियरएक ऐसे ही जानकार का कहना है कि वैश्विक मैक्रोइकोनॉमिक (Global Macroeconomic) लिहाज से देखें तो पोर्टफोलिया में सोना होना बेहद जरूरी है. अगर किसी ने इसमें निवेश नहीं किया है तो उन्हें जरूर निवेश करना चाहिए. पिछले अनुभव को देखने से पता चलता है कि जब कोई वैश्विक संकट (Global Crisis) आती या कोई अन्य निवेश बेहतर रिटर्न नहीं देता है तो इस समय सोना बेहतर प्रदशर्न करता है. दूसरा कारण यह भी है कि वैश्किव स्तर पर कोई भी भू-राजनीतिक तनाव (Geo-Political) आता है तो सोने के भाव में तेजी आती है.

यह भी पढ़ें: नए-पुराने टैक्स स्लैब में कितना लगेगा टैक्स, अब घर बैठे ऐसे लगाएं पता

 

क्यों आ सकती है सोने में तेजी
वर्तमान में, चीन में कोरोना वायरस (Corona Virus) ने अब वैश्विक स्लोडाउन के लिहाज से चिंतित करने लगा है. अगर ऐसा होता है तो इक्विटी मार्केट (Equity Market) में अस्थि​रता आ सकती है. लिहाजा, एक बार फिर सोने के भाव में तेजी देखने को मिल सकती है. वहीं, कुछ प्रमुख केंद्रीय बैंक इस साल उदार ही रहेंगे. वहीं, दूसरी ओर चीन और अमेरिका के बीच ट्रेड डील पर अभी भी पूरी तरह से सहमति नहीं बनी है.

पारंपरिक निवेश के अलावा भी विकल्प

1. हालांकि, फेस्टिव व वेडिंग सजीन में सोने की मांग को छोड़ दें तो साल 2013 के बाद लोगों में फिजिकल गोल्ड के अलावा भी दूसरे विक्लपों में रूचि देखने को मिली है. इसका सबसे बड़ा कारण है कि लोगों को फिजिकल गोल्ड से इतर पेपर गोल्ड में निवेश के कई विकल्प मिल रहे हैं.

2. यही नहीं, सोने में निवेश से कमाई के अलावा लोगों को गोल्ड डिलीवरी का विकल्प भी मिल रहा है. निवेशकों के अलावा आम लोग भी पेटीएम गोल्ड, सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड, गोल्ड ETF जैसे निवेश के विकल्प का भरपूर फायदा उठा रहे हैं.

यह भी पढ़ें: भूल जाएं FD! बैंक की इस सुविधा का लाभ उठाने पर घर बैठे मिलेगा ज्यादा मुनाफा

3. MCX गोल्ड निवेशकों को न्यूनतम 1 ग्राम सोना खरीदने का विकल्प दे रहा है. MCX गोल्ड में इस निवेश की खास बात है कि न्यूनतम 1 ग्राम सोने को भी अपने डीमैट अकाउंट में रखा जा सकता है. जरूरत पड़ने पर इसकी डिलीवरी भी ली जा सकती है.

 

गोल्ड म्यूचुअल फंड भी है बेहतर कमाई का विकल्प
अगर आप इस साल गोल्ड से मोटी कमाई के बारे में सोच रहे हैं तो इसके लिए आपके पास कई विकल्प है. आप पेपर गोल्ड से अच्छी कमाई कर सकते हैं. वहीं,​​ पिछले साल के रिटर्न के आधार पर देखें तो गोल्ड म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में आदित्य बिड़ला सन लाइफ गोल्ड फंड, एसबीआई गोल्ड फंड, निप्पोन इंडिया गोल्ड सेविंग्स फंड, कोटक गोल्ड फंड, एक्सिस गोल्ड फंड, ICICI प्रुडेंशियल रेग्युलर गोल्ड सेविंग्स फंड, HDFC गोल्ड फंड और IDBI गोल्ड फंड की परफॉर्मेंस बेहतर रही है.

निवेश से पहले गोल पर हो नजर
हालांकि सोने के भाव में इस तेजी के बावजूद भी निवेशकों को इस बात का ध्यान रखना होगा कि वो अपने पोर्टफोलिया में जरूरत से अधिक सोना रखने से बचना चाहिए. किसी भी निवेश से पहले उन्हें अपने गोल के बारे में जरूर सोचना चाहिए.

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस से सूरत के हीरो कारोबार को हो सकता है ₹8000 करोड़ का नुकसान

! function(f, b, e, v, n, t, s) { if (f.fbq) return; n = f.fbq = function() { n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments) }; if (!f._fbq) f._fbq = n; n.push = n; n.loaded = !0; n.version = ‘2.0’; n.queue = []; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e)[0]; s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’); fbq(‘init’, ‘482038382136514’); fbq(‘track’, ‘PageView’);



Source link

Source link

Leave a Reply

Most Popular

%d bloggers like this: