चेन्नई में समुद्र से उठीं नीली लहरें, तस्वीरें देखकर लोग हैरान, जानिए क्या है इसका कारण

चेन्नई (Chennai) की वायरल तस्वीरों में देख सकते हैं कि समुद्र से उठ रही लहर ब्लू कलर (Blue Color Waves) यानी नीले रंग की दिख रही है.

चेन्नई (Chennai) की वायरल तस्वीरों में देख सकते हैं कि समुद्र से उठ रही लहर ब्लू कलर (Blue Color Waves) यानी नीले रंग की दिख रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated:
    August 20, 2019, 12:35 PM IST

तमिलनाडु (Tamil Nadu) की राजधानी चेन्नई (Chennai) में समुद्र किनारे (Sea Beach) की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल (Viral Pictures) हो रही है. तस्वीरों में समुद्र से उठ रही लहर ब्लू कलर (Blue Color Waves) यानी नीले रंग की दिख रही है. इन तस्वीरों को लेकर एक ओर जहां लोग अचरज में हैं तो वहीं वह इसकी वजह जानने को उत्सुक भी हैं.

ये तस्वीरें रविवार रात की बताई जा रही हैं. एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार समुद्र किनारे लोग रात में मौसम का लुत्फ ले रहे थे. इस दौरान चांद की रोशनी समुद्र की लहरों पर पड़ी, जिससे पानी नीले रंग का हो गया. लोग यह नजारा देखर कर अचरज में पड़ गए और इस पल को अपने स्मार्टफोन्स में कैद करने लगे. लोगों इन तस्वीरों को सोशल मीडिया पर भी शेयर किया.

क्या है इसकी वजह?
बता दें विज्ञान (Science) में नीली तरंगों या नीली ज्वार की घटना को बायोलुमिनेसेंस (Bio luminescence) कहा जाता है. यह बायोल्यूमिनसेंट फाइटोप्लांकटन ( Bio luminescent Phytoplankton) नाम के एल्गी यानी शैवाल (Algae) के कारण होता है.जैसे-जैसे लहरें तट से टकराती हैं, ये फाइटोप्लांक्टन अपनी केमिकल एनर्जी को इलेक्ट्रिक एनर्जी में बदलते हैं, जिससे लहरों पर नीली चमक दिखती है. बायोल्यूमिनेसेंट फाइटोप्लांकटन प्रजाति का वैज्ञानिक नाम नॉक्टील्यूका सिल्टीलैन्स ( Noctiluca Scintillans) है. इसे आमतौर पर ‘सी स्पार्कल’ भी कहा जाता है.

यह भी पढ़ें:  हड्डियों का ढांचा बन चुकी यह हथिनी, फिर भी मालिक करा रहा काम

देखें सोशल पोस्ट

यह भी पढ़ें:  टारगेट पूरा नहीं हुआ तो कर्मचारियों को मुर्गे का पिलाया खून!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: August 20, 2019, 10:56 AM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here