नई दिल्ली. देश का दिल कही जाने वाली दिल्ली अपने आप में खास है और दिल्ली का सदर बाजार (sadar Bazar) तो कई मायने में विशेष खास है. सदर बाजार दिल्ली का ऐसा मार्केट है जहां पर सूई से लेकर घर के रोजमर्रा के सारे सामान बेहद ही किफायती दामों में मिल जाते हैं. वैसे तो सदर बाजार को थोक मार्केट के तौर पर विशेष पहचान है, लेकिन यहां से लोग रिटेल मार्केट भी कर सकते हैं. यहां पर आपको रोजाना घरों में इस्तेमाल होने वाला पर्सनल केयर, होम केयर के सामान जैसे चूड़ियां, बिंदी, आर्टिफिशियल ज्वेलरी और चुनाव के मौसम में तो चुनाव की सामग्री जैसे झंडे, बिल्ले के सामान भी मिल जाते हैं. एक अनुमान के अनुसार यहां करीब 40 से 50 हजार के बीच थोक की दुकानें हैं. इस लिहाज से देखें तो राजनीतिक पार्टियों के लिए भी यह बाजार बहुत खास है.

दिल्ली का सबसे बड़ा थोक मार्केट बाजार

सदर बाजार के एक तरफ खारी बावली मार्केट है जहां पर खाने पीने का कच्चा समान, सभी प्रकार की दालें, चावल, आटा, घी-तेल, ड्राई फूट्स, मसाले की बहुत बड़ी थोक की मार्केट है. वहीं एक तरफ आजाद मार्केट जहां पर तिरपाल और पॉलीथिन छतरी, गाड़ी कवर, बैग्स की थोक मार्केट है.

Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, BJP, AAP, Congress, sadar bajar constituency, som dutt, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, ओखला निर्वाचन क्षेत्र, अमानतुल्लाह, जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय, दिल्ली उच्च न्यायालय, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड, जमीयत ए इस्लामिया

सदर बाजार विधानसभा सीट चांदनी चौक लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के अन्तर्गत आता है.

सदर बाजार तक पहुंचने के लिए काफी सारे रास्ते हैं. सदर बाजार रेलवे स्टेशन, न्यू दिल्ली स्टेशन दिल्ली जंक्शन, सब्जी मण्डी स्टेशन, किशन गंज स्टेशन. ये रेलवे स्टेशन हैं जहां से आप आसानी से सदर बाजार आ सकते हैं. वहीं तीस हजारी मेट्रो, पुल बंगश, कश्मीरी गेट, आर के आश्रम और न्यू दिल्ली मेट्रो स्टेशन से भी आप सदर बाजार आ सकते हैं. यहां से आप को आसानी से 10 रुपए प्रति सवारी के हिसाब से रिक्शा मिल जाएगा.

पार्किंग और जाम की समस्या से निजात चाहते हैं लोग

पार्किंग के नाम पर यहां कुछ नहीं है. सदर बाजार रेलवे के पास एक छोटी सी पार्किंग है और सदर थाना के पास एक पार्किंग प्लेस है, जो सुविधा पूर्ण नहीं है. यहां पर खिलौने का कारोबार करने वाले मनोज रस्तोगी कहते हैं, ‘हमारी सरकार को सदर बाजार की पार्किंग और ट्रैफिक जाम पर विशेष ध्यान देना चाहिए. प्रशासन की तरफ से इतनी बड़ी मार्केट के लिए कोई भी सुविधा नहीं दी गई है. शौचालय के लिए कोई विशेष सुविधा नहीं है खासकर यहां अगर महिलाएं शॉपिंग के लिए आती हैं तो उनको काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. भीड़-भाड़, गंदगी, तंग रास्ते यहां की प्रमुख समस्या है.’

Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, BJP, AAP, Congress, sadar bajar constituency, som dutt, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, ओखला निर्वाचन क्षेत्र, अमानतुल्लाह, जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय, दिल्ली उच्च न्यायालय, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड, जमीयत ए इस्लामिया

पार्किंग के नाम पर यहां कुछ नहीं है.

दिल्ली की 70 सदस्यीय विधानसभा सीटों में से एक सदर बाजार विधानसभा सीट चांदनी चौक लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के अन्तर्गत आता है. इस सीट पर आम आदमी पार्टी के सोम दत्त पिछले दो बार से लगातार जीत रहे हैं. साल 2013 और 2015 के विधानसभा चुनावों में भी सोम दत्त ने इस सीट से जीत हासिल की थी. कांग्रेस के राजेश जैन इस सीट से लगातार 1998, 2003 और 2008 के विधानसभा चुनाव में जीत हासिल कर चुके हैं.

कांग्रेस का भी गढ़ हुआ करता था

सेंट्रल दिल्ली के तहत पड़ने वाला सदर बाजार विधानसभा क्षेत्र एक समय कांग्रेस का गढ़ हुआ करता था, लेकिन 2013 के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने अपनी पहली कोशिश में ही इस सीट पर जीत हासिल कर ली. बीजेपी के लिए यह सीट भी दिल्ली के उन अभेद्य किले की तरह है, जिसे वह पिछले 22 सालों में भेद नहीं सकी है.

Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, BJP, AAP, Congress, sadar bajar constituency, som dutt, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020, दिल्ली विधानसभा चुनाव, भाजपा, आप, कांग्रेस, ओखला निर्वाचन क्षेत्र, अमानतुल्लाह, जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय, दिल्ली उच्च न्यायालय, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड, जमीयत ए इस्लामिया

सदर बाजार विधानसभा क्षेत्र एक समय कांग्रेस का गढ़ हुआ करता था

2015 में हुए विधानसभा चुनाव की बात की जाए तो सदर बाजार विधानसभा क्षेत्र से आम आदमी पार्टी (AAP) के सोम दत्त विजयी हुए थे. उन्होंने अरविंद केजरीवाल की लहर में विधानसभा चुनाव में बीजेपी उम्मीदवार प्रवीण कुमार जैन को 34 हजार 315 मतों के अंतर से हराया था. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन चुनाव में तीसरे पायदान पर रहे थे और उन्हें 16 हजार 331 मत मिले थे.

ये भी पढ़ें: 

Delhi Election 2020: पानी को लेकर दिल्ली में फिर शुरू हुआ घमासान, BJP पर हमलावर हुई AAP





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here