जामिया हिंसा: दिल्ली पुलिस के खिलाफ FIR को लेकर छात्रों का घेराव, VC बोलीं- कल से शुरू करेंगे प्रक्रिया

जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में पिछले महीने हुई हिंसा के मामले में सैकड़ों छात्रों ने सोमवार को कुलपति नजमा अख्तर के कार्यालय का घेराव किया. इसके बाद कुलपति ने कल से पुलिस के खिलाफ FIR की प्रक्रिया शुरू कराने का आश्वासन दिया.

जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय (Jamia Millia Islamia University) में पिछले महीने हुई हिंसा के मामले में सैकड़ों छात्रों ने सोमवार को कुलपति नजमा अख्तर (Najma Akhtar) के कार्यालय का घेराव किया. छात्रों ने फिर से परीक्षाएं करवाने और उनकी सुरक्षा सुनिश्‍चित करने की मांग भी की.

  • News18Hindi
  • Last Updated:
    January 13, 2020, 3:28 PM IST

नई दिल्ली. जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय (Jamia Millia Islamia University) में दिसंबर के दौरान हुई हिंसा का मामला एक बार फिर सोमवार को उठ गया. इस दौरान बड़ी संख्या में छात्रों ने कुलपति नजमा अख्तर (Najma Akhtar) के कार्यालय का घेराव किया. इस दौरान छात्रों ने परिसर में पिछले महीने हुई हिंसा के संबंध में दिल्ली पुलिस के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने की मांग की. जिसके बाद कुलपति नजमा अख्तर ने कहा है कि वह मंगलवार से दिल्ली पुलिस के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की प्रक्रिया शुरू कर देंगी.

फिर से हों परीक्षाएं
इसके साथ ही छात्र ये भी चाहते हैं कि विश्वविद्यालय परीक्षाओं को फिर से करवाया जाए और छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए. उल्लेखनीय है कि छात्र मुख्य गेट का ताला तोड़ने के बाद कार्यालय परिसर में घुस आए और वीसी के खिलाफ नारेबाजी की. इसके बाद से ही छात्र कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गए और वीसी से बातचीत की मांग करने लगे. बाद में वीसी कार्यालय के बाहर आईं और छात्रों से बात कर उन्हें कार्रवाई को लेकर आश्वस्त किया.

फिर लगे नारेपुलिस पर एफआईआर दर्ज नहीं होने से आक्रोशित छात्रों ने घेराव के दौरान, ‘कश्मीर मांगे आजादी, केरल मांगे आजादी, लड़ के लेंगे आजादी, मीडिया गो बैक’ के नारे लगाए.

यह है मामला
15 दिसंबर 2019 को नागरिकता कानून (CAA) के विरोध में दिल्ली में जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के पास उपद्रवी भीड़ ने 4 बसों समेत 8 वाहनों को फूंक दिया था और पथराव कर तोड़-फोड़ की थी. उपद्रवियों को खदेड़ते हुए पुलिस यूनिवर्सिटी में घुस गई थी. पुलिस ने लाठीचार्ज कर छात्रों को बाहर निकाला था. इस दौरान करीब 100 से ज्यादा छात्र घायल हो गए थे. इसमें बड़ी संख्या में छात्राएं भी शामिल थीं. पुलिस ने इस मामले में दंगा भड़काने, उपद्रव मचाने, सरकारी प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाने, पुलिस पर हमला करने की धाराओं के तहत मुकदमा भी दर्ज किया था. पुलिस का कहना है कि सभी युवकों का आपराधिक रिकॉर्ड है.

ये भी पढ़ें – 

नाना पटोले बोले- ब्रह्मा, विष्णु, महेश’ जैसी है 3 दलों की उद्धव सरकार

अफगानिस्तान से पेट में छिपाकर 10 करोड़ की ड्रग्स लाते पकड़ा गया गिरोह 

Notsocommon पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: January 13, 2020, 2:36 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here