Home समाचार टिकटॉक पर आत्महत्या के वीडियो की ऑस्ट्रेलियाई पीएम ने की निंदा, यूजर्स...

टिकटॉक पर आत्महत्या के वीडियो की ऑस्ट्रेलियाई पीएम ने की निंदा, यूजर्स पर होगा बैन

टिकटॉक पर आत्महत्या के वीडियो की ऑस्ट्रेलियाई पीएम ने की निंदा, यूजर्स पर होगा बैन

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन (फाइल फोटो)

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन (Scott Morrison) ने टिकटॉक के एक आत्महत्या (Suicide Video On TikTok) के वीडियो की कड़ी आलोचना की. इस वीडियो में एक आदमी एक बंदूक से अपनी जान ले रहा है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 9, 2020, 11:48 PM IST

मेलबर्न. ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन (Scott Morrison) ने टिकटॉक के एक आत्महत्या (Suicide Video On TikTok) के वीडियो की कड़ी आलोचना की. इस वीडियो में एक आदमी एक बंदूक से अपनी जान ले रहा है. चीनी स्वामित्व वाले इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने कहा है कि कि वह बंदूक से आत्महत्या करने वाले इस वीडियो को हटाने के काम में लगा है. साथ ही इस वीडियो को ऐप के माध्यम से फैलाने का प्रयास करने वाले यूजर्स को बैन (Ban on Users) करने का भी प्रयास कर रहा है.

सरकार उठा रही है कदम

प्रधान मंत्री स्कॉट मॉरिसन ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया की ऑनलाइन वॉचडॉग ईएसएफ़टीआई की कमिश्नर जूली इनमैन ग्रांट इस घृणित वीडियो के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रही हैं. मॉरीसन ने अपने कार्यालय द्वारा जारी एक वीडियो में कहा कि जो लोग टिकटॉक जैसे संगठनों को चला रहे हैं उनकी ये वीडियो देखने वालों के प्रति खासकर बच्चों के प्रति एक जिम्मेदारी है.

फेसबुक से भारतीय इंजीनियर ने दिया इस्तीफा, कहा- कंपनी नफरत फैलाकर मुनाफा कमाने लगी है प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने उन सोशल मीडिया कंपनियों को एक संदेश देते हुए कहा कि आप लोगों के प्रोडक्ट्स दुनिया बदलने का काम कर रहे हैं लेकिन इसके साथ एक बड़ी जिम्मेदारी भी जुडी हुई है और आपकी जवाबदेही भी तय होती है. आप लोगों को अपनी जिम्मेदारी समझते हुए यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि आपके प्रोडक्ट्स ऑस्ट्रेलिया की जनता को कोई नुकसान न पहुंचाए . मेरी सरकार भी आपकी जिम्मेदारी तय करने की दिशा में काम कर रही है.

सरकार ने उठाये कड़े कानूनी कदम

ऑस्ट्रेलिया की सरकार ने पिछले साल इंटरनेट प्लेटफार्मों से हिंसक सामग्री को हटाने के लिए कई असाधारण क़ानूनी कदम उठाए हैं. नए कानूनों के तहत सोशल मीडिया के अधिकारियों को जेल भी हो सकती है अगर उनके प्लेटफॉर्म हिंसा का लाइव प्रसारण करेंगे. यह कानून उस घटना की प्रतिक्रिया में बनाया गया था जिसमें एक आदमी ने फेसबुक पर लाइव प्रसारण के लिए हेलमेट-माउंटेड कैमरे का इस्तेमाल कर न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च शहर में दो मस्जिदों में नमाज पढ़ रहे 51 नमाजियों की हत्या कर दी थी. ऑस्ट्रेलियाई रेगुलेटर्स ने टिकटॉक पर मुकदमा चलाने का फैसला किया है.

ये भी पढ़ें: शी जिनपिंग निरंकुश तानाशाह हैं, देश के राष्ट्रपति नहीं : अमेरिकी कांग्रेस 

आत्महत्या के इस वीडियो में नए कानून के तहत हिंसक ऑनलाइन छवियों को दिखाया गया है. प्रधानमंत्री ने बुधवार को सोशल मीडिया कंपनियों से इस तरह की आक्रामक सामग्री के लिए ज्यादा जिम्मेदारी लेने का आग्रह किया. चीनी स्वामित्व वाले इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने कहा है कि कि वह बंदूक से आत्महत्या करने वाले इस वीडियो को हटाने के काम में लगा है साथ ही इस वीडियो को ऐप के माध्यम से फैलाने का प्रयास करने वाले यूजर्स को बैन करने का भी प्रयास कर रहा है.

Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: