Wednesday, October 28, 2020
Home समाचार पोर्क खाने वाले सतर्क रहें, जर्मनी में फार्म वाले सूअर तक पहुंचा...

पोर्क खाने वाले सतर्क रहें, जर्मनी में फार्म वाले सूअर तक पहुंचा अफ्रीकन स्वाइन फीवर

पोर्क खाने वाले सतर्क रहें, जर्मनी में फार्म वाले सूअर तक पहुंचा अफ्रीकन स्वाइन फीवर

जर्मनी में जंगली सूअर में अफ्रीकन स्वाइन फीवर (ASF) के तीन और मामलों की पुष्टि हुई है. Photo: AP

पूर्वी जर्मन राज्य ब्रैंडेनबर्ग में जंगली सूअर में अफ्रीकन स्वाइन फीवर (ASF) के तीन और मामलों की पुष्टि हुई है. जर्मनी के संघीय कृषि मंत्रालय ने सोमवार को अपनी वेबसाइट पर यह सूचना दी.

ब्रैंडेनबर्ग. पूर्वी जर्मन राज्य ब्रैंडेनबर्ग में जंगली सूअर में अफ्रीकन स्वाइन फीवर (ASF) के तीन और मामलों की पुष्टि हुई है. जर्मनी के संघीय कृषि मंत्रालय ने सोमवार को अपनी वेबसाइट पर यह सूचना दी. 10 सितंबर को श्खीन आईसा जिले में दो से तीन साल के जंगली सूअरों के शव में अफ्रीकन स्वाइन फीवर पाया गया था. जंगली सूअर के 12 अन्य मामलों का पता ओडर जिले के न्यूज़ेले नगरपालिका के पास लगा था. बर्लिन-ब्रांडेनबर्ग की पशु चिकित्सा प्रयोगशाला में सभी जानवरों का परीक्षण कर इस बीमारी की पुष्टि हुई थी. इसके बाद इनके नमूनों को एफएलआई (FLI) में राष्ट्रीय संदर्भ प्रयोगशाला में भेजा गया था.

अफ्रीकन स्वाइन फीवर मामलों की संख्या बढ़कर 49 हुई

पहले मामले के पता लगने के बाद से अफ्रीकन स्वाइन फीवर मामलों की कुल संख्या 49 हो गई है. मंत्रालय ने कहा कि अभी तक इस फीवर के मामले सिर्फ जंगली जानवरों तक सीमित थे और फार्म के सूअरों में इसके लक्षण नहीं पाए गए थे. बुधवार को इसी क्षेत्र में नया मामला मिला है. नया मामला ब्रैंडेनबर्ग से लगभग 60 किलोमीटर दूर एक नए क्षेत्र में पाया गया है. कृषि मंत्रालय ने बताया कि जर्मनी के फ्रेडरिक-लोफ्लर वैज्ञानिक संस्थान ने भी इलाके में इस बीमारी से ग्रस्त नवीनतम जानवरों की पुष्टि की है.

यह रोग अत्यधिक संक्रामक हैजर्मन अधिकारियों ने ब्रैंडेनबर्ग में मृत जंगली सूअर के लिए गहन खोज जारी रखी है ताकि यह पता लगाया जा सके कि अफ्रीकन स्वाइन फीवर नाम की यह बीमारी किस हद तक फैल गई है. मंत्रालय ने पहले ही यह चेतावनी जारी कर दी है कि जंगली सूअर में अफ्रीकन स्वाइन फीवर के अधिक मामलों की उम्मीद की जानी चाहिए क्योंकि यह रोग अत्यधिक संक्रामक है.

ये भी पढ़ें: कोरोनाकाल में खिड़की पर आंखें लड़ीं, चर्चा में हैं इटली के ये रोमियो-जूलियट 

बाजार हर समस्या का हल नहीं दे सकती, महामारी में पूंजीवाद फेल हो गया: पोप फ्रांसिस 

पोर्क खाने वालों के लिए यह अच्छी खबर नहीं है. जिन देशों में पोर्क खाया है उन्हें अब कुछ वक़्त इन्तजार करना होगा. चीन और अन्य पोर्क खरीददार देशों ने पहले मामले की पुष्टि होने के बाद सितंबर से ही जर्मन पोर्क के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया था. जर्मन पोर्क पर प्रतिबंध लगने के बाद चीनी पोर्क की कीमतें बढ़ गईं हैं.

Source link

Leave a Reply

Most Popular

पोलैंड में गर्भपात नहीं करा सकती महिलाएं, इन 6 देशों में सबसे ज्यादा एबॉर्शन

दुनिया भर में गर्भपात (Abortion) की दरों पर नज़र रखना मुश्किल है क्योंकि कई देश गर्भपात की दरों को रिकॉर्ड (record) या रिपोर्ट नहीं...

नुसरत भरुचा, ओमकार कपूर, सोहम शाह, नोरा फतेही को लव रंजन की मूक फिल्म ‘उफ़’ में अभिनय करने के लिए: बॉलीवुड समाचार – बॉलीवुड...

प्यार का पंचनामा निर्देशक लव रंजन एक मूक फिल्म बनाने के लिए कमर कस रहे हैं उफ़ अपने नए प्रोडक्शन हाउस...
%d bloggers like this: