Wednesday, October 28, 2020
Home Money Making Tips पोस्ट ऑफिस में खुलवाया है सेविंग, PF या फिर सुकन्या खाता तो...

पोस्ट ऑफिस में खुलवाया है सेविंग, PF या फिर सुकन्या खाता तो जान लीजिए नए नियमों के बारे में…

नई दिल्ली. छोटी बचत के लिए अक्सर पड़ोस वाले पोस्ट ऑफिस (Post Office Saving Account) में खाता खुलवाया जाता रहा है. लेकिन इस बदलते दौर में पोस्ट ऑफिस अपनी सुविधाओं को लगातार बेहतर कर रहा है. इसी कड़ी में पोस्ट ऑफिस खाते से जुड़े कई नियमों को भी बदल दिया है. अब बैंकों की तरह पोस्ट ऑफिस खाते में भी न्यूनतम बैलेंस मेंटेंन (Post office increases minimum balance limit) करना जरूरी है. 1 अप्रैल तक ऐसा नहीं करने पर 100 रुपए खाते से काट लिए जाएंगे. मतलब साफ है कि छोटी-छोटी बचत से लंबे समय में गारंटेड फायदे के साथ रकम लौटाने वाले पोस्ट ऑफिस बचत खातों में भी अब बैंकों की तरह ही न्यूनतम जमा राशि रखनी जरुरी हो गया है.

आज संडे स्पेशल स्टोरी में हम आपको पोस्ट ऑफिस ने कौन से नियम बदले है और क्या नई सर्विस सुरू की है इसकी जानकारी दे रहे है…

(1) डिपार्टमेंट ऑफ पोस्ट ने पोस्ट ऑफिस खाते में मिनिमम बैलेंस की सीमा को 50 रुपये से बढ़ाकर 500 रुपये कर दिया है. अगर आपके खाते में कम से कम 500 रुपये नहीं रहेंगे तो वित्त वर्ष के अंतिम कार्य दिवस यानी 31 मार्च 2020 को पोस्ट ऑफिस 100 रुपये पेनाल्टी के रूप में वसूलेगा. ऐसा हर ​साल ​किया जाएगा. अगर इन खातों में जीरो बैलेंस होता है तो इस अकाउंट को अपने आप बंद कर दिया जाएगा.

ऐसे क्यों किया- पोस्ट ऑफिस डायरेक्टोरेट ने सभी पोस्ट ऑफिसेज से कहा कि अकाउंटहोल्डर्स से से मिनिमम बैलेंस मेंटेन करने के लिए संपर्क करें. पोस्ट ऑफिस के अकाउंट में मिनिमम बैलेंस न होने की वजह से पोस्ट ऑफिस को सालाना करीब 2,800 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है.(2) PPF, सुकन्या समृद्धि योजना खाते में क्या बदला! पोस्ट ऑफिस  डिपार्टमेंट ने बेटियों के लिए खोले जाने वाले खाते सुकन्या समृद्धि योजना, पीपीएफ खाता, वरिष्ठ नागरिक बचत खाता और मासिक जमा योजना (एमआईएस) खाता खुलवाने के नियमों में कोई बदलाव नहीं किया है.

सुकन्या समृद्धि खाता 250, पीपीएफ 500 एमआईएस एवं वरिष्ठ नागरिक बचत खाता एक हजार रुपए से खुलेंगे.  नए नियमों के मुताबिक, किसी खाताधारकों के खाते में 499 रुपए होने पर उसके खाते से 100 रुपए रख-रखाव के नाम पर शुल्क कट जाएगा. यह अंतिम 100 रुपए होने तक कटेंगे. इसके बाद खाता बंद कर दिया जाएगा.

(3) पोस्ट ऑफिस में बचत खाता खोलने के क्या हैं फायदे- खाता खोलने के लिए न्यूनतम धनराशि 20 रुपये है. व्यक्तिगत / संयुक्त खातों पर 4.0% वार्षिक​ ब्याज मिलता है. खाता केवल कैश के जरिए खोला जा सकता है. गैर-चेक सुविधा वोले खाते में आवश्‍यक न्यूनतम शेष धनराशि 50/- रुपए है​​.

500 रुपये के साथ खाता खोलने पर चेक सुविधा उपलब्ध है और इसलिए ऐसे खाते में न्यूनतम शेष धनराशि 500 रुपये का होना आवश्‍यक है. किसी मौजूदा खाते में भी चेक सुविधा ली जा सकती है​.

एक डाकघर में एक खाता खोला जा सकता है​. किसी नाबालिग व्‍यक्ति के नाम से भी खाता खोला जा सकता है और 10 साल और उससे अधिक आयु के नाबालिग व्‍यक्ति खाता खोल भी सकते हैं और संचालित भी कर सकते हैं. संयुक्त खाता दो या तीन वयस्कों द्वारा खोला जा सकता है​. खाते को सक्रिय रखने के लिए तीन वित्तीय वर्षों में जमा या निकासी का कम से कम एक लेनदेन आवश्यक है​.

पोस्ट ऑफिस की छोटी बचत योजनाओं की मौजूदा ब्याज दरें
>> पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund (PPF interest Rate): 7.9%
>> सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Scheme Interest Rate): 8.4%
>> वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (Senior Citizens Savings Scheme Interest Rate): 8.6%
>> नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट्स (National Savings Certificate (NSC) Interest Rate): 7.9%
>> किसान विकास पत्र (Kisan Vikas Patra (KVP) Interest Rate): 7.6%
>> नेशनल सेविंग्स मंथली इनकम अकाउंट (Monthly Income Scheme Account, MIS Interest Rate): 7.6%
>> नेशनल सेविंग्स रेकरिंग डिपॉटिज अकाउंट (National Savings Recurring Deposit Account Interest Rate): 7.2%

अब घर बैठे भी निपटा सकते हैं सभी काम- मोबाइल एप इंडिया पोस्‍ट पेमेंट्स बैंक (आईपीपीबी) की सेवा देशभर में शुरू हो चुकी है. इसके लॉन्‍च होने के बाद आप उन सभी वित्‍तीय उत्‍पादों में ऑनलाइन निवेश कर सकते हैं जिनकी पेशकश पोस्‍ट ऑफिस करता है. इनमें सेविंग बैंक अकाउंट, रेकरिंग डिपॉजिट (आरडी) अकाउंट, पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) और सुकन्‍या समृद्धि योजना (एसएसवाई) शामिल हैं.

पोस्ट ऑफिस पासबुक

(I) आईपीपीबी की मदद से आप पोस्‍ट ऑफिस के सभी निवेश विकल्‍पों को एक जगह देख सकते हैं. यह आपको अपने निवेश को अधिक कारगर तरीके से मैनेज करने की सुविधा देता है. आईपीपीबी एप का इस्‍तेमाल करके आप अपने आरडी, एसएसवाई या पीपीएफ अकाउंट में ऑनलाइन पैसा जमा कर सकते हैं.

(II) जो लोग अपने पोस्‍ट ऑफिस से जुड़े अकाउंटों को ऑनलाइन इस्‍तेमाल करना चाहते हैं, उन्‍हें आईपीपीबी मोबाइल एप्‍लीकेशन डाउनलोड करना होगा. यह एप्‍लीकेशन एंड्रॉयड और एपल दोनों मोबाइल फोन पर डाउनलोन किया जा सकता है. एप को डाउनलोड करने के बाद आईपीपीबी में एक डिजिटल अकाउंट खोलने की जरूरत पड़ेगी.

(III) इसके लिए आपको मोबाइल नंबर और पैन देने के बाद आधार वेरिफिकेशन करना पड़ता है. रजिस्‍ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी हो जाने पर चार अंकों का एमपिन क्रिएट करना होगा. पीपीएफ, एसएसवाई, आरडी अकाउंटों में कॉन्ट्रिब्‍यूशन करने के लिए आपको पहले आईपीपीबी अकाउंट में फंड ट्रांसफर करना होगा. पैसा ट्रांसफर करने के लिए आपको बैंक अकाउंट नंबर और आईएफएससी का ब्‍योरा देना होगा.

(IV) एक बार आईपीपीबी अकाउंट में पैसा आ जाने के बाद आप एसएसवाई/पीपीएफ या आरडी खाते में कॉन्ट्रिब्‍यूशन कर सकते हैं. इसके लिए आपको ‘डिपार्टमेंट ऑफ पोस्‍ट (डीओपी) प्रोडक्‍ट्स’ टैब पर जाना होगा. इसमें आपको कस्‍टमर आईडी के साथ सही अकाउंट नंबर दर्ज करना होगा.

(V) इस सुविधा का फायदा उठाने के लिए आपका डीओपी में एक्टिव अकाउंट होना चाहिए. निवेश/कॉन्ट्रिब्‍यूशन की रकम आपको दर्ज करनी पड़ती है. एक बार इसके दर्ज हो जाने पर आपको इसके कंफर्म होने का नोटिफिकेशन मिलता है.

जरूरी बातें- सुविधा का इस्‍तेमाल केवल तभी संभव है जब आपका केवाईसी किया जा चुका हो. साथ ही आपके पास इंटरनेट और मोबाइल बैंकिंग सर्विस इनेबल्‍ड हो. अगर ये सेवाएं इनेबल्‍ड नहीं हैं तो एक फॉर्म भरने की जरूरत पड़ती है. इसे भरकर नजदीकी पोस्‍ट ऑफिस में जमा करना होगा.

! function(f, b, e, v, n, t, s) { if (f.fbq) return; n = f.fbq = function() { n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments) }; if (!f._fbq) f._fbq = n; n.push = n; n.loaded = !0; n.version = ‘2.0’; n.queue = []; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e)[0]; s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’); fbq(‘init’, ‘482038382136514’); fbq(‘track’, ‘PageView’);



Source link

Source link

Leave a Reply

Most Popular

पोलैंड में गर्भपात नहीं करा सकती महिलाएं, इन 6 देशों में सबसे ज्यादा एबॉर्शन

दुनिया भर में गर्भपात (Abortion) की दरों पर नज़र रखना मुश्किल है क्योंकि कई देश गर्भपात की दरों को रिकॉर्ड (record) या रिपोर्ट नहीं...

नुसरत भरुचा, ओमकार कपूर, सोहम शाह, नोरा फतेही को लव रंजन की मूक फिल्म ‘उफ़’ में अभिनय करने के लिए: बॉलीवुड समाचार – बॉलीवुड...

प्यार का पंचनामा निर्देशक लव रंजन एक मूक फिल्म बनाने के लिए कमर कस रहे हैं उफ़ अपने नए प्रोडक्शन हाउस...
%d bloggers like this: