Home समाचार फ्रांस: सेंट पीटर सेंट पॉल कैथेड्रल में लगी भीषण आग, जांच का...

फ्रांस: सेंट पीटर सेंट पॉल कैथेड्रल में लगी भीषण आग, जांच का आदेश | rest-of-world – News in Hindi

फ्रांस: सेंट पीटर सेंट पॉल कैथेड्रल में लगी भीषण आग, जांच का आदेश

फोटो सौ. (द न्यूयॉर्क टाइम्स)

स्थानीय दमकलकर्मियों का कहना है कि आग (Fire) लगने से कैथेड्रल की छत को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है और हालात नियंत्रण में हैं. उन्होंने अप्रैल 2019 में पेरिस स्थित नोत्र देम कैथेड्रल में लगी आग से इस घटना की तुलना से इंकार किया है.

नांत. फ्रांस के पश्चिम शहर नांत में स्थित सेंट पीटर एवं सेंट पॉल कैथेड्रल में शनिवार को भीषण आग (Fire) लगने से उसके मुख्य द्वार पर लगे शीशे टूट गए हैं और आग की लपटें, धुएं का गुब्बार दूर से देखा जा सकता है. आग पर काबू पाने के बड़ी संख्या में दमकलकर्मी मौके पर पहुंच गए हैं. फ्रांस की सरकार (Government Of France) ने गॉथिक शैली में 15वीं सदी में बने इस कैथेड्रल में आग लगने की घटना की जांच का आदेश दिया है. सिटी हॉल के एक अधिकारी ने बताया कि गॉथिक शैली में बने इस कैथेड्रल के अंदर शनिवार की सुबह आग लग गई. आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं है. अधिकारी को अपना नाम सार्वजनिक करने का अधिकार नहीं है. घटना में अभी तक किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है.

स्थानीय दमकलकर्मियों का कहना है कि आग लगने से कैथेड्रल की छत को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है और हालात नियंत्रण में हैं. उन्होंने अप्रैल 2019 में पेरिस स्थित नोत्र देम कैथेड्रल में लगी आग से इस घटना की तुलना से इंकार किया है. नोत्र देम में लगी आग ने कैथेड्रल को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया था. फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने ट्वीट किया है, ‘नोत्रे देम के बाद नांत स्थित सेंट पीटर सेंट पॉल कैथेड्रल में आग लगी. हम गॉथिक शैली में निर्मित इस विरासत को बचाने में जुटे दमकलकर्मियों के साथ हैं.’ सेंट पीटर सेंट पॉल कैथेड्रल में आज लगी आग में मुख्य दरवाजे पर लगा शीशा टूटा है. 15वीं सदी में निर्मित इस कैथेड्रल में 1972 में भी आग लगी थी.

ये भी पढ़ें: Covid-19 को लेकर नया खुलासा, 6 तरह का होता है ये वायरस

‘हमारे इतिहास और विरासत का हिस्सा’नांत की मेयर जोहाना रोलां ने संवाददाताओं से कहा, ‘यह हमारे इतिहास और विरासत का हिस्सा है.’ उन्होंने कहा कि हमारे दिमाग में वह तस्वीर और कहानी है, लेकिन हालात 1972 जैसे नहीं है. कैथेड्रल में लगी आग से उत्पन्न स्थिति का मुआयना करने के लिए फ्रांस की प्रधानमंत्री ज्यां कास्ते और गृहमंत्री गेराल्ड दारमनी सहित अन्य अधिकारी आज दोपहर नांत पहुंचेंगे.

Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: