Tuesday, September 29, 2020
Home समाचार बेलारूस की प्रोटेस्ट लीडर को जबरन उठा ले गए नकाबपोश, 3 अन्य...

बेलारूस की प्रोटेस्ट लीडर को जबरन उठा ले गए नकाबपोश, 3 अन्य सदस्य भी लापता

बेलारूस की प्रोटेस्ट लीडर को जबरन उठा ले गए नकाबपोश, 3 अन्य सदस्य भी लापता

मारिया कोलेनिकोवा (फाइल फोटो)

बेलारूस (Belarus) में राष्ट्रपति और सरकार के विरोध में करीब एक महीने से जारी प्रदर्शन के बीच सोमवार को कुछ नकाबपोश लोग प्रोटेस्ट लीडर पार्टनर मारिया कोलेनिकोवा (Maria Kolesnikova) को जबरन उठाकर ले गए.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 7, 2020, 9:29 PM IST

मिन्स्क. बेलारूस (Belarus) की राजधानी मिन्स्क में सोमवार को विपक्ष का समर्थन करने वाली नेता मारिया कोलेनिकोवा (Maria Kolesnikova) को कुछ नकाबपोश लोग जबरन उठाकर एक मिनी वैन में कहीं ले गए. यह जानकारी बेलारूस की लोकल मीडिया ने दी है. बता दें, मारिया कोलेनिकोवा 9 अगस्त को बेलारूस में हुए विवादित चुनावों में लंबे समय तक सत्तारूढ़ राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको के खिलाफ जीत का दावा करने वाले विपक्षी उम्मीदवार स्वेतलाना तिखानोव्सकाया की कैंपेन पार्टनर हैं. बताया जा रहा है कि यह घटना सुबह के 10 बजे घटी है, जब कोलेनिकोवा मिन्स्क के आर्ट म्यूजियम के पास से गुजर रही थीं. उनसे साथ-साथ विपक्षी समन्वय परिषद के तीन अन्य सदस्य भी लापता हैं.

बता दें, बेलारूस में राष्ट्रपति और सरकार के विरोध में करीब एक महीने से प्रदर्शन जारी है. शनिवार को पुलिस ने दर्जनों विरोध प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया जिनमें ज्यादातर विद्यार्थी थे. रविवार को बेलारूस की राजधानी मिन्स्क में अनधिकृत सरकार विरोधी प्रदर्शन फिर से शुरू हो गया. प्रदर्शन के आस-पास बड़े पैमाने पर सुरक्षा बल तैनात थे. प्रदर्शनकारियों की मांग हैं कि राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको इस्तीफा दें. उन्हें विश्वास नहीं है कि 9 अगस्त के राष्ट्रपति चुनाव में राष्ट्रपति अलेक्जेंडर ने 80 प्रतिशत वोट के साथ जीत हासिल की. उनका दावा है कि लुकाशेंको ने पोल में धांधली की है.

ये भी पढ़ें: खुशखबरी! सूडान में खत्म हुआ 30 साल का इस्लामी शासन, अब बनेगा लोकतांत्रिक राष्ट्र

पीड़ितों को मिलेगी सहायतालेकिन 26 साल से पूर्व सोवियत गणराज्य पर शासन करने वाले राष्ट्रपति लुकाशेंको ने गलत कामों से इनकार किया है और वे अपने पद को छोड़ने से इनकार करते हैं. उथल-पुथल के बीच, शीर्ष विपक्षी कार्यकर्ता ओल्गा कोवलकोवा का कहना है कि उसने जेल की धमकियों के बीच पोलैंड में शरण ली है. पोलिश प्रधान मंत्री माटुस्ज़ मोरवीकी ने स्पष्ट कर दिया है कि उनका देश बेलारूस में दमन के पीड़ितों को सहायता प्रदान करेगा.

Source link

Leave a Reply

Most Popular

%d bloggers like this: