राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पुर्तगाल के अपने समकक्ष रेबेलो डी सूसा से राष्ट्रपति भवन में मुलाकात की

भारत-पुर्तगाल के बीच द्विपक्षीय एजेंडे का विस्तार कई क्षेत्रों में हुआ है. ये दोनों देश विज्ञान, तकनीक, रक्षा, शिक्षा, नवोन्मेष और स्टार्टअप, जल और पर्यावरण समेत कई अन्य क्षेत्रों में साथ आ रहे हैं.

नई दिल्ली. भारत और पुर्तगाल ने समुद्री, बौद्धिक संपदा अधिकार, हवाई क्षेत्र और वैज्ञानिक अनुसंधान क्षेत्र में 14 समझौते और सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए.राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) ने पुर्तगाल के अपने समकक्ष रेबेलो डी सूसा से राष्ट्रपति भवन में मुलाकात की. सूसा पहली बार भारत की यात्रा पर आए हैं. कोविंद ने कहा कि पुर्तगाल के साथ भारत का संबंध विशिष्ट है और दोनों देश 500 सालों का इतिहास साझा करते हैं.Portuguese President Marcelo Rebelo de Sousa: Namaste, I am deeply emotionally touched with your very warm reception not just the invitation but the reception that I have received. We feel that we live in a new era, in a long lasting friendship, that is facing future. https://t.co/sADzZTejA6 pic.twitter.com/0eU4f5tYcR— ANI (@ANI) February 14, 2020इन क्षेत्रों में हुआ समझौताराष्ट्रपति ने कहा कि भारत-पुर्तगाल के बीच द्विपक्षीय एजेंडे का विस्तार कई क्षेत्रों में हुआ है. ये दोनों देश विज्ञान, तकनीक, रक्षा, शिक्षा, नवोन्मेष और स्टार्टअप, जल और पर्यावरण समेत कई अन्य क्षेत्रों में साथ आ रहे हैं.आतंकवाद से निपटने होगाआतंकवाद को पूरी दुनिया के लिए खतरा बताते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, ‘ हमें इस वैश्विक खतरे से निपटने के लिए आपसी सहयोग बढ़ाना होगा.’

Notsocommon पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: February 15, 2020, 3:27 AM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here