Wednesday, October 28, 2020
Home समाचार मॉडल को टैटू बनवाना पड़ गया भारी, चली गई एक आंख की...

मॉडल को टैटू बनवाना पड़ गया भारी, चली गई एक आंख की रोशनी

मॉडल को टैटू बनवाना पड़ गया भारी, चली गई एक आंख की रोशनी

फोटो सौ. (@anoxi_cime / Instagram)

पॉलैंड (Poland) में रहने वाली 25 साल की मॉडल को आंखों पर टैटू (Tattoo) बनाना इतना भारी पड़ गया कि उनकी एक आंख की रोशनी चली गई. अब डॉक्टरों का कहना है कि इस आंख की रोशनी का वापस आना मुश्किल ही है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 28, 2020, 4:11 PM IST

वॉरसॉ. आज कल टैटू (Tattoos) बनवाना फैशन का एक हिस्सा बन गया है. इन दिनों यंग लोगों के एक टैटू एक स्टाइल स्टेटमेंट माना जाता है. लेकिन कई बार टैटू आर्टिस्ट की एक गलती की वजह से काफी नुकसान हो सकता है. ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमें एक मॉडल को टैटू बनवाना काफी खतरनाक साबित हुआ. पोलैंड (Poland) की रहने वाली 25 साल की मॉडल को आंखों पर टैटू बनवाना काफी भारी पड़ गया है. गलत टैटू बनने की वजह से मॉडल की आंखों की रोशनी चली गई.

मॉडल एलेक्जैंड्रा सडोवस्का की एक आंख की रोशनी पूरी तरह से जा चुकी हैं. वहीं दूसरी आंख की भी रोशनी जाने की संभावना जताई जा रही है. दरअसल मॉडल आर्टिस्ट पोपेक की तरह आईबॉल टैटू बनवाना चाहती थी. टैटू बनवाने के लिए मॉडल टैटू आर्टिस्ट के पास गई थी. आईबॉल टैटू बनवाते वक्स आर्टिस्ट से एक गलती हो गई, टैटू आर्टिस्ट ने गलत इंक का इस्तेमाल करते हुए बॉडी इंक का इस्तेमाल किया था. जिसके चलते मॉडल के आंखों में दर्द हुआ था. जिसके लिए आर्टिस्ट ने मॉडल को नॉर्मल दर्द की दवाई खाने के लिए दी थी. बाद में पता चला कि उनकी आंखों की रोशनी चली गई. एलेक्जैंड्रा की आंखों की रोशनी को वापस लाने के लिए तीन सर्जरी भी करवाई गई लेकिन उनकी आंखों की रोशनी वापस आना मुश्किल है. वहीं मॉडल को इस बात का भी डर है कि कहीं उनकी दूसरी आंखों की रोशनी न चली जाए. फिलहाल इस मामले में आर्टिस्ट को तीन साल की सजा सुनाई गई है.

ये भी पढ़ें: ब्रिटेन: शार्ट्स पहनने पर लगाई रोक तो स्कर्ट पहनकर स्कूल पहुंच गए स्टूडेंट

आंखों के सफेद हिस्से पर बनता है टैटूबताते चलें कि आईबॉल टैटू को स्क्लेरल या कॉर्नियल टैटू भी कहा जाता है. आईबॉल टैटू में इंसान की आंखों के सफेद हिस्से पर टैटू बनाया जाता है.इसके लिए आंखों के सफेद हिस्से पर अलग-अलग कलर के इंक का प्रोयग करते हैं. इंजेक्शन की मद से इंक डाला जाता है. सफेद हिस्से पर अलग अलग कलर के इंक का प्रयोग किया जाता है. आंखों के अंदर सफेद हिस्से पर अलग अलग इंक के कलर का इस्तेमाल किया जाता है. कुछ वक्त के बाद सफेद हिस्से में कलर फैल जाता है. आई बॉल टैटू बनवाना एक जोखिम भरा काम है. ऐसा इसलिए क्योंकि एक छोटी सी गलती की वजह से इसमें आंखों की रोशनी जा सकती है.

Source link

Leave a Reply

Most Popular

दुनिया के 12 ऐसे देश जहां गर्भपात कराना है बड़ा अपराध,हो सकती है 30 साल की कैद

साल 2015 की Pew रिसर्च सेंटर एनालिसिस की एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया के ज्यादातर देश, आंकड़ों के हिसाब से कहें तो 96% किसी...

कहां पैदा हुए थे ईसा, किस महिला ने जीते 2 नोबेल, 100 में 99 देते हैं गलत जवाब

वयोवृद्ध ऑनलाइन क्विज निर्माता (online quiz maker) कोडी क्रॉस ने अमेरिका (America) स्थित ट्रिविया साइट प्लेबज़ पर ये 23 उलझाने वाले सवाल पूछे हैं...

एचआईवी एड्स होने पर घबराएं नहीं, ऐसे रखें मरीज का ख्याल

अगर सही समय पर एचआईवी संक्रमण (HIV Infection) का पता न चले और उचित इलाज नहीं किया जाए, तो व्यक्ति में एड्स (AIDS) का...
%d bloggers like this: