Tuesday, September 29, 2020
Home Health Health Care / स्वास्थ्य शरीर और मन दोनों की सेहत के लिए फायदेमंद तैराकी, इन बातों...

शरीर और मन दोनों की सेहत के लिए फायदेमंद तैराकी, इन बातों का भी रखें ध्यान

शरीर और मन दोनों की सेहत के लिए फायदेमंद तैराकी, इन बातों का भी रखें ध्यान

तैराकी करने से शरीर का लचीलापन बना रहता है.

हम शरीर (Body) को सेहतमंद (Healthy) और सुडौल बनाए रखने के लिए कई तरीके अपनाते हैं. योग (Yoga) और व्‍यायाम करते हैं. मगर तैराकी (Swimming) भी सेहत को बनाए रखने का बेहतर तरीका है. तैराकी से शरीर लचीला (Flexible) बनता है. साथ ही इसे करने से कैलोरी बर्न होती है और वजन कम करने में भी मदद मिलती है.



  • Last Updated:
    August 13, 2020, 12:16 PM IST

फिट (Fit) रहने के लिए लोग कई तरीके अपनाते हैं. कोई जिम में वर्कआउट (Workout) या योग (Yoga) करता है, तो कोई सुबह वॉक पर जाकर सेहत (Health) बनाने की कोशिश में लगा रहता है, लेकिन तैराकी यानी स्विमिंग (Swimming) एक ऐसा का व्यायाम है, जिससे मानसिक और शारीरिक दोनों रूप से मजबूत रह सकते हैं. यह एक तरह का एरोबिक व्यायाम (Aerobic Exercise) है, जिससे पूरा शरीर मूवमेंट करता है. खास बात यह है कि बिना किसी हानिकारक प्रभाव के इसे किया जा सकता है.

myUpchar से जुड़ीं डॉ. मेधावी अग्रवाल का कहना है कि तैराकी से शरीर का लचीलापन बना रहता है. इसमें विभिन्न स्ट्रोक से दोहराए जाने वाली स्ट्रेचिंग लचीलापन लाने में मदद करती है. यही नहीं वजन कम करने के लिए भी यह एक शानदार एक्सरसाइज है. कैलोरी बर्न करने का यह बढ़िया तरीका है. रोजाना आधा घंटे तैरने से लगभग 440 कैलोरी जलती हैं.

तैराकी मसल्स बनाने और हड्डियों को मजबूत करने का अच्छा जरिया है. यह इसलिए क्योंकि जमीन पर व्यायाम करने की तुलना में तैरते समय 12 गुना ज्यादा मेहनत लगती है और इससे मांसपेशियां मजबूत होती है. यह मांसपेशियों को भी टोन करता है और ताकत बनाता है जो शरीर को जीवनभर फिट रखती है. तैराकी का फायदा दिल की सेहत को भी होता है. यही नहीं तैराकी का फायदा अस्थमा के लक्षणों को कम करने में भी है. यह फेफड़ों की स्थिति में सुधार  करती है.केवल शारीरिक ही नहीं मानसिक रूप से भी तैराकी फायदेमंद है. तनाव से छुटकारा दिलाने में मदद करती है और दिमाग बेहतर तरीके से काम करता है. नियमित रूप से तैराकी करने वालों से तनाव और अवसाद दूर रहता है. मानसिक रूप से मजबूती के लिए तैराकी जरूर करनी चाहिए. यह मस्तिष्क में हैप्पी हार्मोन एंडोर्फिन रिलीज करता है. पानी का नीला रंग खुद भी मानसिक शांति दे ही देता है. साथ ही पानी में रहने से मस्तिष्क में रक्त संचार सुधरता है.

ये भी पढ़ें – आपको रात को होती है खांसी? ये 12 टिप्स अपनाकर इससे पाएं छुटकारा

myUpchar से जुड़ीं डॉ. अप्रतिम गोयल का कहना है कि तैराकी से न केवल आराम महसूस होता है बल्कि पूरे शरीर के लिए अच्छी कसरत है, लेकिन तैरने से पहले और बाद में कुछ बातें ध्यान रखना जरूरी है, ताकि त्वचा और बालों पर खराब असर न पड़े. तैराकी करने पर स्किन टैनिंग से बचना जरूरी है. स्विमिंग पूल में क्लोरीन युक्त पानी इस्तेमाल होता है जो त्वचा को प्रभावित कर सकता है. इसलिए खुले पूल में सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे के बीच तैरने जाते हैं तो जिंक युक्त मॉइस्चराइजर लगाएं और उसके ऊपर वाटरप्रूफ सनस्क्रीन लोशन लगा लें. इससे टैनिंग का डर नहीं रहेगा. बालों के लिए स्विमिंग कैप पहनने से पहले भी तेल या हेयर सीरम लगाकर पूल में उतरें, ताकि क्लोरीन युक्त पानी का लगातार बालों से संपर्क होने पर भी नुकसान न हो. तैरने के बाद शॉवर लेना न भूलें, ताकि क्लोरीन का प्रभाव शरीर से हट जाए.

अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, हड्डियों की मजबूती से लेकर मसल्स बनाने, डिप्रेशन और अस्थमा तक में फायदेमंद है स्वीमिंग पढ़ें।

NotSocommon पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

! function(f, b, e, v, n, t, s) { if (f.fbq) return; n = f.fbq = function() { n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments) }; if (!f._fbq) f._fbq = n; n.push = n; n.loaded = !0; n.version = ‘2.0’; n.queue = []; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e)[0]; s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’); fbq(‘init’, ‘482038382136514’); fbq(‘track’, ‘PageView’);

Source link

Leave a Reply

Most Popular

%d bloggers like this: