• एयरलाइन के प्रवक्ता ने बताया- नए रूट पर उड़ान भरने से सफर में लगने वाले समय में 1 से डेढ़ घंटे की कमी आएगी
  • अनुमान के मुताबिक- एक बार के सफर में खर्च होने वाले ईंधन में 2 से 7 हजार किलोग्राम की बचत होगी
  • बोइंग 777 में पहली फ्लाइट में 300 यात्री सफर करेंगे

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2019, 08:38 PM IST

मुंबई। एयर इंडिया 15 अगस्त से दिल्ली-सैन फ्रांसिस्को फ्लाइट नए रूट पर शुरू करने जा रहा है। एयर इंडिया के प्रवक्ता के मुताबिक- इससे यात्रा में लगने वाला समय 1 से डेढ़ घंटा कम हो जाएगा। हर फ्लाइट में 2 से 7 हजार किलोग्राम ईंधन की बचत होगी। 

 

नए रूट पर लगेंगे 13 घंटे: एयर इंडिया

प्रवक्ता ने बताया- पहले इस सफर को पूरा करने में 14.5 घंटे का समय लगता था। नए रूट से यह सफर केवल 13 घंटे में पूरा हो जाएगा। एयर इंडिया हर दिन दिल्ली से सैन फ्रांसिस्को के लिए फ्लाइट संचालित करता है। फिलहाल भारत और नॉर्थ अमेरिका की ओर जाने वाली फ्लाइट्स अटलांटिक और पेसिफिक रूट से होकर गुजरती है। 

 

पर्यावरण को लाभ होगा: एयरलाइन

एयरलाइन ने कहा- भारत और नॉर्थ अमेरिका के बीच मौजूद इस मार्ग का इस्तेमाल अभी तक नहीं हो पाया था। नॉर्थ पोलर रीजन के उपयोग से कॉमर्शियल एयर ऑपरेशन में भी फायदा मिलेगा। पर्यावरण में कम से कम कार्बन उत्सर्जन होगा। पर्यावरण को फायदा पहुंचेगा। 

 

यात्रियों का समय बचेगा: प्रवक्ता

उन्होंने बताया कि 15 अगस्त को पहली फ्लाइट पोलर रीजन के ऊपर से उड़ान भरेगी। इसे कैप्टन रजनीश शर्मा और कैप्टन दिग्विजय सिंह उड़ाएंगे। बोइंग 777 में पहली बार में 300 यात्री सफर करेंगे। यात्रियों का समय बचेगा जबकि एयरलाइन का ईंधन। 

 

DBApp



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here