नकली CBI अफसर बनकर खिलौने वाली बंदूक से किया मणिपुर CM के भाई का अपहरण

एन बिरेन सिंह मणिपुर में बीजेपी सरकार के मुख्यमंत्री हैं. उनके भाई कोलकाता में रहते हैं.

पुलिस (Police) ने बताया कि शुक्रवार को पांच लोग खिलौने वाली बंदूक लेकर यहां न्यू टाऊन इलाके में सिंह के किराये के मकान में घुस गए. इसके बाद मणिपुर (Manipur) के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह (N Biren Singh) के भाई तोंगब्राम लुखोई सिंह और उनके एक सहयोगी को वहां से अगवा कर लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated:
    December 14, 2019, 8:00 PM IST

कोलकाता. खुद को सीबीआई (CBI) का अधिकारी बताकर पांच लोग मणिपुर (Manipur) के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह (N Biren Singh)  के भाई तोंगब्राम लुखोई सिंह के अपार्टमेंट में घुस गए और उनका अपहरण कर लिया. पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी. पुलिस ने हालांकि कुछ ही घंटे में उन्हें मुक्त करा लिया और पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. जिनमें दो मणिपुर के रहने वाले हैं. पुलिस ने शनिवार को बताया, ‘शुक्रवार को पांच लोग खिलौने वाली बंदूक लेकर यहां न्यू टाऊन इलाके में सिंह के किराये के मकान में घुस गए और उन्हें व उनके एक सहयोगी को वहां से अगवा कर लिया. बाद में आरोपियों ने सिंह की पत्नी को फोन किया और 15 लाख रुपए की फिरौती मांगी.’

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार सिंह की पत्नी की शिकायत पर पुलिस हरकत में आई. उसने शुक्रवार शाम को ही दोनों को मुक्त कराया और मध्य कोलकाता के बनियापुकुर से पांचों आरोपियों को गिरफ्तार किया. पांच आरोपियों में दो मणिपुर के, दो कोलकाता के और एक पंजाब के हैं. पुलिस को बेनियापुकुर में आरोपियों के ठिकाने पर छापे के दौरान उनके पास से दो वाहन और तीन खिलौने वाली बंदूक और दो लाख रुपए नकद मिले.

पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘यह पैसे के लिए अपहरण कांड जान पड़ता है. आरोपी मणिपुर के किसी व्यक्ति के लिये काम कर रहे थे. इसी व्यक्ति ने पूरी साजिश रची थी.’ पुलिस पांचों से पूछताछ कर रही है.
अधिकारी ने कहा कि कोलकाता के दो आरोपियों का पूर्व में आपराधिक रिकॉर्ड रहा है. अधिकारी के अनुसार मणिपुर पुलिस को इस घटना के बारे में बता दिया गया है और जांच में उसकी सहायता मांगी गई है.यह भी पढ़ें..

सावरकर पर शिवसेना-कांग्रेस में ठनी, संजय राउत ने राहुल से कहा-वह पूरे देश के देवता समान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: December 14, 2019, 7:28 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here