धर्म डेस्क, अमर उजाला, Updated Mon, 10 Feb 2020 07:23 PM IST

नीतिशास्त्रों के ज्ञाता आचार्य चाणक्य कहते है कि जीवन में व्यक्ति को सुंदरता, भोजन और धन के बारे में सोचकर कभी भी असंतोष नही करना चाहिए। जो वस्तुएं या सुख-सुविधाएं हमारे समक्ष हैं, हमें उनसे ही खुश रहना चाहिए। आइए जानते है चाणक्य की वो बातें जिनसे जीवन में संतोष बना रहेगा। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here