प्रदेश सरकार ने सोमवार को पूरे प्रदेश में कर्फ्यू लगाया था. (प्रतीकात्मक फोटो)

पंजाब पुलिस ने मंगलवार को राज्य में कोरोना वायरस के कारण लागू कर्फ्यू का उल्लंघन करने के 232 मामले दर्ज किये और 111 लोगों को गिरफ्तार कर लिया.

चंडीगढ़. पंजाब पुलिस ने मंगलवार को राज्य में कोरोना वायरस के कारण लागू कर्फ्यू का उल्लंघन करने के 232 मामले दर्ज किये और 111 लोगों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने राज्य की जनता के घरों तक आवश्यक सामान की आपूर्ति सुनिश्चित करने की व्यापक रणनीति पर भी विचार-विमर्श किया. पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि सर्वाधिक 38 प्राथमिकियां एसएएस नगर (मोहाली) में दर्ज की गयीं, वहीं अमृतसर (ग्रामीण) में 34 और तरण तारण तथा संगरूर में 30-30 मामले दर्ज किये गये.उन्होंने कहा कि सर्वाधिक गिरफ्तारियां तरण तारण से हुईं और 43 लोगों को गिरफ्तार किया गया. मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह द्वारा कर्फ्यू को लेकर जारी विस्तृत दिशानिर्देशों के बाद डीजीपी ने आला पुलिस अधिकारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग से बैठक की जिसमें लोगों को दूध, खाद्य सामग्रियों, दवाओं जैसी जरूरी वस्तुएं उपलब्ध कराने की प्रणाली बनाने पर विचार-विमर्श किया गया.94 हजार लोग लौटे हैं वापस पंजाब सीएम अमरिंदर सिंह के कार्यालय की ओर से जानकारी दी गई कि प्रदेश में 94000 से अधिक NRI और विदेशी वापस लौटे हैं. उनमें से कई लोगों को ट्रैक किया गया है. इसके अलावा करीब तीस हजार लोगों को आइसोलेट किया गया है. वहीं अन्य लोगों का पता लगाने के लिए कोशिशे की जा रही है.सीएमओ से दिए गए ये निर्देश मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से कहा गया कि पंजाब के जिला आयुक्तों को जहां तक संभव हो, फेरीवालों / वितरकों के माध्यम से किराने का सामान, दूध, फल और सब्जियों जैसी आवश्यक वस्तुओं की डोर-टू-डोर डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है. कार्यालय की ओर से जानकारी दी गई कि कर्फ्यू प्रबंधन प्रणाली के हिस्से के रूप में SDM या सेक्टर मजिस्ट्रेट द्वारा हर सुबह घरों में दूध, ब्रेड, बिस्किट, अंडे पहुंचाने के लिए गाड़ी विक्रेताओं को नामित किया जाएगा.राज्य में लगा है कर्फ्यू बता दें कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए पंजाब और चंडीगढ़ (Chandigarh) में कर्फ्यू लगा है. जिस कारण मंगलवार को आम लोगों को अपने घरों में बंद रहना पड़ा. इससे पहले पूरे प्रदेश में लॉकडाउन लागू किया गया था. सोमवार को प्रदेश सरकार ने पूरे प्रदेश में कर्फ्यू लगाया.लोगों से घरों पर रहने की अपील
एक अधिकारी के अनुसार, चंडीगढ़ और हरियाणा की सीमा पूरी तरह सील रखी गई. वहीं जालंधर के डीसी वरिंदर कुमार शर्मा ने आम लोगों से घर में रहने की अपील भी की. बता दें, अब तक पंजाब में कोरोना वायरस संक्रमण के 6 नए मामले सामने आए हैं. इसके बाद संक्रमित लोगों की संख्या 29 हो गई है. वहीं, एक व्यक्ति की मौत हो गई है.केंद्र से मांगी गई मदद पंजाब सरकार ने कोरोना वायरस के प्रकोप से निपटने के लिये केन्द्र सरकार से 150 करोड़ रुपये की सहायता राशि मांगी है. गौरतलब है कि पंजाब में विदेश से बड़ी तादाद में अनिवासी भारतीय लौटे हैं, जिसके बाद कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़ने का खतरा पैदा हो गया है.ये भी पढ़ें:COVID19 : पंजाब में 29 मामले, कर्फ्यू के बीच घर तक जरूरी सामान पहुंचाएगी सरकारपंजाब: कर्फ्यू में बाहर निकलने पर पुलिस ने दी सजा, सड़क पर लिटाकर कराई परेड 

Notsocommon पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ (पंजाब) से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: March 25, 2020, 1:44 AM IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here