नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) में नागरिकता संशोधन कानून (CAA), नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (NRC) और शाहीन बाग (Shaheen Bagh) बेशक चुनावी मुद्दे बने हों या नहीं, लेकिन छह विधानसभा सीट ऐसी हैं जहां मुस्लिम वोटरों (Muslim Vores) ने आम आदमी पार्टी (AAP) को बड़ी जीत दिलाई है. खास बात यह है कि इन सभी छह सीट पर दूसरे नंबर की पार्टी कांग्रेस (Congress) नहीं बीजेपी (BJP) रही है. यह सभी वो सीटें हैं जहां मुस्लिम वोटरों की आबादी 35 फीसदी से ज्यादा है. इससे पहले ओखला विधानसभा सीट पर आप के अमानतुल्लाह (Amanatullah Khan) करीब 80 हजार से भी ज्यादा वोटों से जीत की ओर बढ़ रहे हैं.यह हैं वो 6 सीट, जहां आप ने रिकॉर्ड वोट हासिल किएमुस्तफाबाद, सीलमपुर, बललीमारान, मटिया महल, ओखला और बाबरपुर, ये ऐसे छह विधानसभा क्षेत्र हैं जहां मुस्लिम वोटों की संख्या कुल आबादी की 35 प्रतिशत से अधिक हैं. किसी सीट पर तो वोटों का यह फीसद 50 से भी ज्यादा है. अब जरा निगाह डालते हैं यहां आप और बीजेपी को कितने-कितने वोट मिले हैं-मुस्तफाबाद- आप (98,681), बीजेपी (35,691)सीलमपुर- आप (72,611), बीजेपी (35,691)बल्लीमारान- आप (65,612), बीजेपी (29,434)मटिया महल- आप (67,250), बीजेपी (17,024)ओखला- आप (1,11,761), बीजेपी (30,191)
बाबरपुर- आप (83,776), बीजेपी (51,309)ओखला में 2015 में भी AAP को मिले थे एक लाख से अधिक वोटवर्ष 2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में आप के अमानतुल्लाह खान ने इस सीट पर बीजेपी प्रत्याशी को 64,532 वोटों से हराया था. 2015 में इस सीट पर आप का वोट शेयर 62.57 फीसदी रहा था. आप उम्मीदवार को 1,04,271 वोट मिले थे. जबकि बीजेपी उम्मीदवार को 39,739 वोट मिले थे. बीजेपी का वोट 60.94 फीसदी रहा था. जबकि इस बार के चुनावों में ओखला विधानसभा में 58.84 फीसदी वोट डाले गए हैं.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here