नित्यानंद के अलग हिंदू देश बसाने के दावे को इक्वाडोर ने झुठलाया, कहा-हमने नहीं दी जमीन

रेप के आरोपों में फंसा नित्यानंद देश छोड़कर भाग चुका है. फाइल फोटो

इक्वाडोर दूतावास (Embassy of Ecuador) ने कहा कि हमने नित्यानंद (Nithyananda) के शरण के आग्रह को ठुकरा दिया था और वह हैती चला गया है. इक्वाडोर ने कहा, ‘इक्वाडोर दूतावास उन प्रकाशित बयानों को खारिज करता है, जिसमें नित्यानंद को इक्वाडोर (Ecuador) द्वारा शरण देने या दक्षिण अमेरिकी द्वीप में या इक्वाडोर से दूर किसी भी जगह जमीन खरीदने में मदद देने की बात कही गई है.’

  • News18Hindi
  • Last Updated:
    December 6, 2019, 7:36 PM IST

नई दिल्ली. इक्वाडोर (Ecuador) सरकार ने इस बात से इनकार किया है कि उसने दुष्कर्म और अपहरण के मामले में भारत में वॉन्टेड नित्यानंद (Nithyananda) को शरण दी है, या दक्षिण अमेरिकी देश में जमीन खरीदने में उसे किसी भी तरह की मदद की है. इक्वाडोर दूतावास ने अपने एक बयान में कहा कि देश ने नित्यानंद के शरण के आग्रह को ठुकरा दिया था और वह हैती चला गया है. सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया, “इक्वाडोर दूतावास उन प्रकाशित बयानों को खारिज करता है, जिसमें नित्यानंद को इक्वाडोर (Ecuador) द्वारा शरण देने या दक्षिण अमेरिकी द्वीप में या इक्वाडोर से दूर किसी भी जगह जमीन खरीदने में मदद देने की बात कही गई है.”

बता दें कि इक्वाडोर की ओर से ये बयान तब आया है जब इस तरह की खबरें आई कि नित्यानंद ने दक्षिण अमेरिका में इक्वाडोर के पास एक आइलैंड खरीद लिया है और उसे कैलासा नाम (Kailasa) दिया है. अपने बयान में इक्वाडोर ने कहा है, ‘नित्यानंद ने इक्वाडोर के सामने अंतर्राष्ट्रीय निजी संरक्षण (शरणार्थी) का आग्रह किया था, जिसे उसके द्वारा ठुकरा दिया गया. इसके बाद वह संभवत: हैती चला गया. भारत में प्रिंट या डिजिटल मीडिया में प्रकाशित सभी खबरें कथित रूप से कैलाशा डॉट आर्गनाइजेश वेबसाइट से ली गई थी, जो संभवत: नित्यानंद या उनके समर्थकों द्वारा चलाई जाती है. डिजिटल या प्रिंट मीडिया घरानों से आग्रह है कि नित्यानंद से संबंधित किसी भी तरह की सूचना का इस्तेमाल करते वक्त इक्वाडोर का संदर्भ न दे.”

देश छोड़कर भागना पड़ा था नित्यानंद को

नित्यानंद ने इससे पहले घोषणा कर कहा था कि उसने इक्वाडोर से खरीदे गए द्वीप पर एक हिंदू राष्ट्र-कैलाशा का निर्माण किया है. नित्यानंद को कर्नाटक में उसके खिलाफ दुष्कर्म के एक मामले की वजह से बिना पासपोर्ट के ही देश छोड़कर भागना पड़ा था. नित्यानंद का असली नाम राजशेखरन है और वह तमिलनाडु का रहने वाला है.

उसने 2000 की शुरुआत में बेंगलुरू के समीप एक आश्रम खोला था. उसी दौरान एक अभिनेत्री के साथ उसका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ था. इसके बाद उसे रेप के आरोपों के कारण गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद दूसरे रेप के आरोपों में भी उसका नाम आया. रिपोर्ट के अनुसार, नित्यानंद के खिलाफ फ्रांस अथॉरिटी 4 लाख डॉलर के धोखाधड़ी मामले में जांच कर रही है. बीते महीने, नित्यानंद के खिलाफ उसके अहमदाबाद स्थित आश्रम से दो लड़कियों के लापता होने के संबंध में एफआईआर दर्ज कराई गई थी.

ये भी पढ़ें…

अब ट्रेन में होगी ‘खुशियों की डिलीवरी’, रेलवे शुरू करने जा रहा ये खास सुविधा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: December 6, 2019, 6:39 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here