मंगलवार को सोना-चांदी हुआ महंगा

एचडीएफसी​ सिक्योरिटीज (HDFC Securities) के मुताबिक, मंगलवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में 10 ग्राम सोने के भाव (Gold Prices) में 119 रुपए का उछाल आया. वहीं, औद्योगिक मांग में इजाफा से चांदी की कीमतों में जबरदस्त तेजी आई. एक किलोग्राम चांदी का भाव 1,408 रुपए बढ़ा गया.

नई दिल्ली. सप्ताह के दूसरे कारोबारी दिन सोने-चांदी की कीमतों (Gold-Silver Price Today) में जोरदार तेजी दर्ज की गई. कीमती धातु की अंतर्राष्ट्रीय कीमतों में बढ़ोतरी से मंगलवार को दिल्ली सर्राफा बाजार की नई दरें आ गई हैं. एचडीएफसी​ सिक्योरिटीज (HDFC Securities) के मुताबिक, मंगलवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में 10 ग्राम सोने के भाव (Gold Prices) में 119 रुपए का उछाल आया. वहीं, औद्योगिक मांग में इजाफा से चांदी की कीमतों में जबरदस्त तेजी आई. एक किलोग्राम चांदी का भाव 1,408 रुपए बढ़ा गया.सोने की नई कीमतें (Gold Price on 30th June 2020)- एचडीएफसी सिक्योरिटीज के मुताबिक दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने का भाव 119 रुपये प्रति 10 ग्राम बढ़कर 49,306  रुपये के स्तर पर आ गया है. इसके पहले सोमवार को सोने की कीमतों में 26 रुपये प्रति 10 ग्राम की गिरावट दर्ज की गई है.यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया वन नेशन वन राशन कार्ड का ऐलान, नवंबर तक मुफ्त में मिलेगा अनाज चांदी की नई कीमतें (Silver Price on 30th June 2020)- हालांकि, सोने के मुकाबले चांदी की कीमतों में ज्यादा तेजी रही. औद्योगिक मांग में बढ़ोतरी से दिल्ली सर्राफा बाजार में एक किलोग्राम चांदी 1,408 रुपए उछलकर 49,483 रुपए हो गया. सोमवार को चांदी का कारोबार सपाट रहा. चांदी का भाव  48,075 रुपये प्रति किलोग्राम ही रहा. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोने का भाव 1,773 डॉलर प्रति औंस और चांदी का दाम 17.86 डॉलर प्रति औंस रहा.सोने की कीमतों में तेजी की वजह- एचडीएफसी​ सिक्योरिटीज (HDFC Securities) के सीनियर एनालिस्ट (कमोडिटीज) तपन पटेल ने बताया कि कमजोर ग्लोबल संकेतों की वजह से सेफ हेवन के रूप में निवेशकों का सोने में रुझान बढ़ा है.यह भी पढ़ें :- क्या है प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना, कैसे मिलेगा आपको फायदा, जानिए इसके बारे में सबकुुछक्या सोने में मुनाफा कमाने का मौका है? एक्सपर्ट का कहना है कि अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने वैश्विक ग्रोथ का अनुमान घटा दिया है और कहा है कि मौजूदा माहामारी से दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाओं की हालत बेहद खराब व चिंताजनक होगी. आईएमएफ के अनुमान के मुताबिक, 2020 में वैश्विक अर्थव्यवस्था में 4.9 फीसदी की गिरावट आएगी. यही कारण है कि सोने की कीमतों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है. पिछले 10 साल के आंकड़े देखने से पता चलता है कि इस दौरान सोने में बेहद कम अवमूल्यन देखने को मिला है. एसेट क्लास के तौर पर गोल्ड फंड में न तो कोई डिफॉल्ट का जोखिम और न ही क्रेडिट का जोखिम है. लंबी अवधि में महंगाई दर की बात करें तो यह 7 से 8 फीसदी के करीब रही है और गोल्ड ने लगभग इसके करीब ही रिटर्न दिया है.

First published: June 30, 2020, 5:58 PM IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here