• लोगन के रहने वाले डेविड व्हीपल ने मैकडॉनल्ड्स से 1999 में हैम्बर्गर खरीदा था और कोट की जेब में रख लिया था
  • बाद में व्हीपल का परिवार सेंट जॉर्ज रहने चला गया, लेकिन उनका कोट लोगन स्थित गाड़ी के पिछले हिस्से में ही छूट गया था

Dainik Bhaskar

Jan 08, 2020, 01:21 PM IST

वॉशिंगटन. अमेरिका के एक व्यक्ति ने दावा किया है कि उसके पास नया दिखने वाला हैम्बर्गर 20 साल से अधिक पुराना है। इसे मैकडॉनल्ड्स से खरीदा था। डेविड व्हीपल का कहना है कि बर्गर को लोगन से खरीदा था। यह अब भी फ्रेश दिख रहा है, लेकिन इसके मीट से कारबोर्ड जैसी बदबू आने लगी है।

व्हीपल ने बताया कि 1999 में एन्जाइम्स टेस्ट परीक्षण के लिए बर्गर को खरीदने कर लाने की योजना बनाई थी, लेकिन बर्गर को कोट की जेब में छूट गया था। कोट गाड़ी की पिछले हिस्से था और गाडी लोगन स्थित कोठी में थी। इससे बाद हम लोगन से सेंट जॉर्ज ऊटाह चले गए थे। सालों वहीं रहे। फिर एक दिन पत्नी ने मुझे कोट देते हुए कहा, इसमें कुछ रखा है। जब इसे निकाला तो वह बर्गर था और इतने सालों बाद भी नया जैसा दिख रहा था। इससे पहले बर्गर को 2013 में देखा था और इसे एक कॉच के बॉक्स में सुरक्षित रख दिया था। इसके बाद अभी जब देखा तो यह ताजा ही नजर आ रहा था।

पहले 10 पुराना बर्गर भी फ्रेश देखा गया था
इससे पहले यूरोपीय देश आइसलैंड की राजधानी रेक्याविक में 10 साल से रखे गए बर्गर और फ्राइज सुखिर्यों में आए थे। यह दक्षिणी आइसलैंड के सनोत्रा हाउस के एक हॉस्टल में कांच के बक्से में रखा है। दावा है कि दुनियाभर से लोग बर्गर और फ्राइज को देखने आते हैं। वेबसाइट पर भी रोजाना इन्हें चार लाख लोग देखते हैं। दस साल में इन्हें स्टोर, गैराज से लेकर म्यूजियम और अब हॉस्टल में रखा गया है। बर्गर को मैकडॉनल्ड्स के रेक्याविक के एक आउटलेट से 31 अक्टूबर 2009 को जॉर्टर मरासन ने बर्गर और फ्राइज खरीदा था। 31 अक्टूबर 2019 को इसके 10 साल पूरे हो गए हैं। हॉस्टल के मालिक सिगी सिगुरदुर ने बताया कि बर्गर और फ्राइज बहुत पुराने हो गए हैं, लेकिन अब भी काफी अच्छे दिखते हैं।

इसलिए खराब नहीं होते बर्गर
बर्गर खराब नहीं होने के लिए केमिकल मिलाए जाने के आरोपों पर मैकडॉनल्ड्स ने 2013 में कहा था, बर्गर और दूसरे पदार्थों के सड़ने के लिए नमी महत्वपूर्ण होती है। इससे खाद्य पदार्थों में बैक्टीरिया और फंफूद पैदा होती है और वे खराब होने लगते हैं। सही वातावरण में हमारा उत्पाद दूसरों के मुकाबले देर से खराब होता है। इस बारे में आइसलैंड यूनिवर्सिटी के फूड साइंस के सीनियर लेक्चरर ब्जॉर्न एडलबजॉर्नसन ने कहा था, बर्गर में मॉइस्चर(नमी) न होने की वजह से यह अभी तक खराब नहीं हुआ है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here