• नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी, पुणे में जांच किट का चल रहा ट्रायल
  • इंस्टीट्यूट से अप्रूवल मिलते ही किट देश में उपलबध कराई जाएगी

दैनिक भास्कर

Mar 23, 2020, 08:47 PM IST

हेल्थ डेस्क. आईआईटी दिल्ली के शोधकर्ताओं ने कोरोनावायरस का पता लगाने के लिए किट तैयार की है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी, पुणे इस किट का ट्रायल कर रहा है। किट तैयार करने वाली रिसर्च टीम का कहना है कि यह काफी कम कीमत में उपलब्ध होगी और हर आय वर्ग का इंसान किट को खरीद सकेगा।

वायरस की नई जानकारी जांचने में मदद करेगी
रिसर्च टीम के प्रमुख प्रोफेसर विवेकानंदन पेरुमल के मुताबिक, हमने कोरोना वायरस के अलग-अलग सैम्पल की तुलना की है, इस दौरान वायरस के अलग-अलग हिस्सों के बारे में अहम जानकारी सामने आई है। नए वायरस के ऐसे अलग-अलग हिस्से इंसान में पाए जाने वाले दूसरे कोरोनावायरस में नहीं देखे जाते हैं। यही खासियत नए कोरोनावायरस को जांच के दौरान पकड़ने में मदद करेगी।

सटीक जानकारी देगा किट
प्रोफेसर विवेकानंदन पेरुमल के मुताबिक, पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से अप्रूवल मिलते ही किट देश के लिए मददगार साबित होगी। प्रोफेसर मनोज मेनन कहते हैं, कोरोनावायरस है या नहीं, नई किट से सटीक जानकारी मिलती है। किट को आईआईटी के कुसुम स्कूल ऑफ बायलॉजिकल साइंस ने तैयार किया है। 

निजी लैब 4500 रुपए से अधिक नहीं चार्ज कर सकते
इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के मुताबिक, 21 मार्च को 16,911 सैम्पल लिए गए थे। जिनसे से 315 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले। जांच को लेकर शनिवार को केंद्र सरकार ने नए निर्देश जारी किए हैं। निर्देश के मुताबिक, कोरोना की जांच के लिए निजी लैब 4500 रुपए से  अधिक नहीं चार्ज कर सकते।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here