• कैफे में काम करने वाले रियल लाइफ स्पाइडरमैन का नाम रूडी हार्टोनो है
  • रूडी कपड़ों के कारण चर्चा में आए और प्लास्टिक पॉल्यूशन का मुद्दा राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचा

Dainik Bhaskar

Feb 12, 2020, 05:45 PM IST

लाइफस्टाइल डेस्क. इंडोनेशिया में रियल लाइफ स्पाइडरमैन की चर्चा है। इनका नाम रूडी हार्टोनो है, जो सड़क और समुद्र के किनारों पर पड़ा कचरा साफ करता है। इसकी एक वजह भी है। चीन के बाद इंडोनेशिया प्लास्टिक पॉल्यूशन फैलाने वाला दुनिया का दूसरा बड़ा देश है। प्लास्टिक पॉल्यूशन घटाने के लिए रूडी ने कुछ समय पहले सफाई अभियान शुरू किया था जिसकी अब चर्चा राष्ट्रीय स्तर पर हो रही है।

चर्चा में आए तो लोग अभियान से जुड़े
36 साल के रूडी हार्टोनो एक कैफे में काम करते हैं। रोजाना 7 बजे के बाद सफाई का काम शुरू करते हैं। रूडी के मुताबिक, पहले लोग सफाई की इस मुहिम से जुड़ते नहीं थे। लोगों को अभियान से जोड़ने के लिए स्पाइडरमैन के कपड़े पहनकर सफाई शुरू की तो राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा हुई और स्वच्छता का मुद्दा भी उठा। इसके बाद लोगों ने साथ देना शुरू किया और मुहिम से जुड़े।

भतीजे को खुश करने के लिए खरीदी थी ड्रेस
स्पाइडरमैन के कपड़ों में उनकी इस पहल को सराहा गया। अखबारों में उनके इंटरव्यू प्रकाशित हुए और चैट शो में प्लास्टिक प्रदूषण के खिलाफ अपनी बात रखी। रूडी ने कहा उन्होंने स्पाइडरमैन की ड्रेस भतीजे को खुश करने के लिए खरीदी थी लेकिन बाद में यह अभियान का हिस्सा बन गई।

सरकार से कड़े नियमों लागू करने की उम्मीद
1.4 लाख आबादी वाले इंडोनेशिया में रोजाना 2.7 टन कचरा निकलता है। एक अध्ययन के मुताबिक, इंडोनेशिया 17 हजार से अधिक द्वीपों का समूह है और चीन के बाद प्लास्टिक पॉल्यूशन के मामले में दूसरे पायदान पर है। हार्टोनो का कहना है कि उम्मीद है कि सरकार प्लास्टिक सहित कचरे के प्रबंधन को बेहतर करने के लिए कड़े नियम लागू करेगी। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here