BJP के लिए जेडीएस का रुख नरम: देवगौड़ा का बड़ा बयान, राजनीति में कोई स्‍थायी दोस्‍त-दुश्‍मन नहीं

ऐसी खबरें आई थीं कि देवेगौड़ा ने येदियुरप्पा को फोन कर समर्थन का भरोसा दिया है. File Photo

जनता दल (एस) प्रमुख एचडी देवेगौड़ा (HD Devegowda) से जब बीजेपी के प्रति जेडीएस (JDS) के नरम रुख के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह मध्यावधि चुनाव नहीं चाहते और उनकी इच्छा है कि सरकार अपना कार्यकाल पूरा करे ताकि उस अवधि में वह अपनी पार्टी को मजबूत कर सकें.

  • News18Hindi
  • Last Updated:
    November 6, 2019, 11:04 PM IST

बेंगलुरु. कर्नाटक (Karnataka) की बीएस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) सरकार के कार्यकाल पूरा करने की इच्छा जताने के एक दिन बाद पूर्व प्रधानमंत्री और जनता दल (एस) प्रमुख एचडी देवेगौड़ा (HD Devegowda) ने बुधवार को कहा कि राजनीति में कोई दोस्त या दुश्मन नहीं होता. जब देवेगौड़ा से मंगलवार को भाजपा के प्रति जदएस (JDS) के नरम रुख के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा था कि वह मध्यावधि चुनाव नहीं चाहते और उनकी इच्छा है कि सरकार अपना कार्यकाल पूरा करे ताकि उस अवधि में वह अपनी पार्टी को मजबूत कर सकें. उन्होंने बुधवार को कहा कि क्या येदियुरप्पा (Yediyurappa) दुश्मन हैं? सिद्धरमैया और मैंने पहले एक दूसरे के खिलाफ लड़ा था, लेकिन हाल में शिमोगा और बेल्लारी में मंच भी साझा किया. कोई नहीं कह सकता कि कब क्या होगा.

उन्होंने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा, राजनीति में कोई स्थायी दोस्त या दुश्मन नहीं होता. स्थिति के अनुसार ये बदलते रहते हैं. इससे पहले देवेगौड़ा के बेटे एवं पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) ने भी कहा था कि उनकी पार्टी राज्य की भाजपा सरकार को अस्थिर करने की कोशिश नहीं करेगी जैसा कि अमित शाह के नेतृत्व में भाजपा ने उनकी गठबंधन सरकार के साथ किया, क्योंकि वह मध्यावधि चुनाव नहीं चाहते. देवेगौड़ा एवं कुमारस्वामी के बयान ऐसे समय आए हैं जब भाजपा को सत्ता में बने रहने के लिए पांच दिसंबर को 15 सीटों के लिए होने वाले उपचुनाव में कम से कम छह सीटों पर सीट दर्ज करनी होगी.

जेडीएस दे सकती है बीजेपी को समर्थन
कयास लगाए जा रहे हैं कि उपचुनाव में जरूरी सीटों पर जीत दर्ज करने में अगर भाजपा असफल होती है तो जद एस समर्थन दे सकती है. ऐसी खबरें आई थी कि देवेगौड़ा ने येदियुरप्पा को फोन कर समर्थन का भरोसा दिया है. हालांकि, येदियुरप्पा ने बुधवार को कहा कि उनकी पूर्व प्रधानमंत्री के साथ फोन पर बात नहीं हुई है. देवेगौड़ा ने भी कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री से बात की है लेकिन इसमें राजनीति शामिल नहीं थी.यह भी पढ़ें…
महाराष्ट्र में किसकी सरकार: क्या इस बार भी संकटमोचक की भूमिका निभाएंगे गडकरी

सहयोगियों को भरोसे में नही ले पाई BJP, विवाद उसी की वजह से: अशोक चह्वाण

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: November 6, 2019, 11:01 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here