Thursday, October 1, 2020
Home Religious Important Festival From 6 June To 5 July 2020 Solar Eclipse 2020...

Important Festival From 6 June To 5 July 2020 Solar Eclipse 2020 Ratha Yatra Devshayani Ekadashi – आषाढ़ का महीना हुआ आरंभ, इस महीने दो ग्रहण के साथ होंगे ये प्रमुख त्योहार



{“_id”:”5edb41398ebc3e85b54f881e”,”slug”:”important-festival-from-6-june-to-5-july-2020-solar-eclipse-2020-ratha-yatra-devshayani-ekadashi”,”type”:”story”,”status”:”publish”,”title_hn”:”u0906u0937u093eu0922u093c u0915u093e u092eu0939u0940u0928u093e u0939u0941u0906 u0906u0930u0902u092d, u0907u0938 u092eu0939u0940u0928u0947 u0926u094b u0917u094du0930u0939u0923 u0915u0947 u0938u093eu0925 u0939u094bu0902u0917u0947 u092fu0947 u092au094du0930u092eu0941u0916 u0924u094du092fu094bu0939u093eu0930″,”category”:{“title”:”Festivals”,”title_hn”:”u0924u094du092fu094bu0939u093eu0930″,”slug”:”festivals”}}

इस आषाढ़ के महीने में भड़ल्या नवमी, देवशयनी एकादशी, गुप्त नवरात्र, भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा और गुरु पूर्णिमा जैसे व्रत-त्योहार हैं।

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free मेंकहीं भी, कभी भी।
70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

6 जून से हिंदू कैलेंडर के अनुसार आषाढ़ का महीना आरंभ हो चुका है। धार्मिक नजरिए से यह महीना काफी अहम होता है। इस माह कई प्रमुख व्रत-त्योहार आते हैं। जिनका काफी महत्व होता है। इस महीने दो ग्रहण भी लगेगा। 21 जून को सूर्य ग्रहण होगा जिसे भारत में देखा जा सकेगा। वहीं 5 जुलाई को पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण भी लगेगा। इस आषाढ़ के महीने में भड़ल्या नवमी, देवशयनी एकादशी, गुप्त नवरात्र, भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा और गुरु पूर्णिमा जैसे व्रत-त्योहार हैं। मिथुन संक्रांति15 जून को सूर्य वृष राशि से निकलकर मिथुन राशि में प्रवेश करेगा। मिथुन संक्रांति है। इस दिन सूर्य पूजा, गंगा स्नान और दान का महत्व होता है।योगिनी एकादशीमहीने की दूसरी एकादशी 17 जून को है।  इस व्रत को करने से कई तरह के पापों से मुक्ति मिल जाती है।सूर्य ग्रहण5 जून को हुए चंद्र ग्रहण के बाद आषाढ़ के महीने में सूर्य ग्रहण पड़ेगा। यह ग्रहण ज्येष्ठ माह की अमावस्या तिथि पर होगा। यह सूर्य ग्रहण होगा जो भारत में देखा जा सकेगा। ग्रहण दिखाई देने के कारण इसमें सूतककाल लगेगा। सूतक 20 जून की रात 10.14 बजे से शुरू होगा। ग्रहण के बाद  घर और मंदिर में गंगाजल से छिड़काव और दान-पुण्य करने का विशेष महत्व है। गुप्त नवरात्रि नवरात्रि में देवी के नौ रूप की आराधना की जाती है।  22 जून से गुप्त नवरात्रि शुरू हो जाएंगे। तांत्रिक क्रिया के लिए गुप्त नवरात्रि किया जाता है। जगन्नाथ रथ यात्राविश्व प्रसिद्ध उड़ीसा के पुरी का भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा आषाढ महीने के शुक्ल पक्ष की द्वितीया से निकाली जाती है।  ज्येष्ठ माह की पूर्णिमा पर जगन्नाथ भगवान की रथ यात्रा से पहले स्नान की प्रक्रिया की गई। जिसमें मंदिर के गर्भ गृह से भगवान जगन्नाथ, बलभद्र और सुबद्रा की प्रतिमाओं को निकालकर 108 घड़ों के सुगंधित जल से स्नान कराया गया। इसके बाद भगवान 15 दिनों के लिए एकांतवास यानी क्वारैंटाइन में रहेंगे।देवशयनी एकादशीदेवशयनी एकादशी पर भगवान विष्णु शयन करने के लिए क्षीरसागर में चले जाते हैं। जिस कारण से इस दौरान किसी भी तरह का शुभ कार्य नहीं किया जाता है। इसी दिन से चातुर्मास भी शुरू हो जाएगा। 1 जुलाई को देवशयनी एकादशी का व्रत रखा जाएगा।भड़ल्या नवमीभड़ल्या नवमी को अबूझ मुहूर्त कहते हैं। इस दिन बिना कोई मुहूर्त देखे सभी तरह के शुभ कार्य कर सकते हैं। इस बार यह 29 जून को भड़ल्या नवमी आएगी। गुरु पूर्णिमा5 जुलाई को गुरु पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण लगेगा। यह भी 5 जून की तरह उपछाया चंद्र ग्रहण होगा।  ये चंद्र ग्रहण नहीं दिखेगा इसलिए इसका महत्व नहीं है।  

सार
15 जून को सूर्य वृष राशि से निकलकर मिथुन राशि में प्रवेश करेगा।
22 जून से गुप्त नवरात्रि शुरू हो जाएंगे।
आषाढ़ के महीने में सूर्य ग्रहण पड़ेगा।
1 जुलाई को देवशयनी एकादशी का व्रत रखा जाएगा।

विस्तार
6 जून से हिंदू कैलेंडर के अनुसार आषाढ़ का महीना आरंभ हो चुका है। धार्मिक नजरिए से यह महीना काफी अहम होता है। इस माह कई प्रमुख व्रत-त्योहार आते हैं। जिनका काफी महत्व होता है। इस महीने दो ग्रहण भी लगेगा। 21 जून को सूर्य ग्रहण होगा जिसे भारत में देखा जा सकेगा। वहीं 5 जुलाई को पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण भी लगेगा। इस आषाढ़ के महीने में भड़ल्या नवमी, देवशयनी एकादशी, गुप्त नवरात्र, भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा और गुरु पूर्णिमा जैसे व्रत-त्योहार हैं।

 मिथुन संक्रांति

15 जून को सूर्य वृष राशि से निकलकर मिथुन राशि में प्रवेश करेगा। मिथुन संक्रांति है। इस दिन सूर्य पूजा, गंगा स्नान और दान का महत्व होता है।

योगिनी एकादशी
महीने की दूसरी एकादशी 17 जून को है।  इस व्रत को करने से कई तरह के पापों से मुक्ति मिल जाती है।सूर्य ग्रहण5 जून को हुए चंद्र ग्रहण के बाद आषाढ़ के महीने में सूर्य ग्रहण पड़ेगा। यह ग्रहण ज्येष्ठ माह की अमावस्या तिथि पर होगा। यह सूर्य ग्रहण होगा जो भारत में देखा जा सकेगा। ग्रहण दिखाई देने के कारण इसमें सूतककाल लगेगा। सूतक 20 जून की रात 10.14 बजे से शुरू होगा। ग्रहण के बाद  घर और मंदिर में गंगाजल से छिड़काव और दान-पुण्य करने का विशेष महत्व है। गुप्त नवरात्रि नवरात्रि में देवी के नौ रूप की आराधना की जाती है।  22 जून से गुप्त नवरात्रि शुरू हो जाएंगे। तांत्रिक क्रिया के लिए गुप्त नवरात्रि किया जाता है। जगन्नाथ रथ यात्राविश्व प्रसिद्ध उड़ीसा के पुरी का भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा आषाढ महीने के शुक्ल पक्ष की द्वितीया से निकाली जाती है।  ज्येष्ठ माह की पूर्णिमा पर जगन्नाथ भगवान की रथ यात्रा से पहले स्नान की प्रक्रिया की गई। जिसमें मंदिर के गर्भ गृह से भगवान जगन्नाथ, बलभद्र और सुबद्रा की प्रतिमाओं को निकालकर 108 घड़ों के सुगंधित जल से स्नान कराया गया। इसके बाद भगवान 15 दिनों के लिए एकांतवास यानी क्वारैंटाइन में रहेंगे।देवशयनी एकादशीदेवशयनी एकादशी पर भगवान विष्णु शयन करने के लिए क्षीरसागर में चले जाते हैं। जिस कारण से इस दौरान किसी भी तरह का शुभ कार्य नहीं किया जाता है। इसी दिन से चातुर्मास भी शुरू हो जाएगा। 1 जुलाई को देवशयनी एकादशी का व्रत रखा जाएगा।भड़ल्या नवमीभड़ल्या नवमी को अबूझ मुहूर्त कहते हैं। इस दिन बिना कोई मुहूर्त देखे सभी तरह के शुभ कार्य कर सकते हैं। इस बार यह 29 जून को भड़ल्या नवमी आएगी। गुरु पूर्णिमा5 जुलाई को गुरु पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण लगेगा। यह भी 5 जून की तरह उपछाया चंद्र ग्रहण होगा।  ये चंद्र ग्रहण नहीं दिखेगा इसलिए इसका महत्व नहीं है।  



Source link

Leave a Reply

Most Popular

National Voluntary Blood Donation Day: जानें रक्तदान से जुड़े मिथ और उनकी सच्चाई

हर वर्ष 1 अक्टूबर को भारत में राष्ट्रीय स्वैच्छिक रक्तदान दिवस (National Voluntary Blood Donation Day) मनाया जाता है. साल 1975 में इस दिन...

रवि किशन को मौत की धमकी मिलने के बाद वाई + सिक्योरिटी मिली, ड्रग्स नेक्सस पर अपनी टिप्पणी पोस्ट की: बॉलीवुड समाचार – बॉलीवुड...

बीजेपी सांसद रवि किशन ने हाल ही में बॉलीवुड इंडस्ट्री में ड्रग्स नेक्सस पर कुछ बोल्ड टिप्पणी की थी और उनके...
%d bloggers like this: