• कर्नाटक में वायुसेना ने बाढ़ में फंसे 500 लोगों को एयरलिफ्ट कर बचाया, इनमें 25 पर्यटक
  • अरब सागर में 55 किमी की रफ्तार से हवाएं चलने का अनुमान, मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह

Dainik Bhaskar

Aug 14, 2019, 10:56 AM IST

नई दिल्ली. मध्य प्रदेश, केरल और महाराष्ट्र समेत 23 राज्यों में बुधवार को भारी बारिश का अनुमान है। मौसम विभाग ने बारिश को लेकर चेतावनी जारी की है। भोपाल में सुबह से तेज बारिश हो रही है। बीते 24 घंटे में भारी बारिश के कारण ओडिशा में 6, उत्तर प्रदेश में 4 और हिमाचल में 2-2 लोगों की मौत हो गई। जबकि पांच दिनों में केरल में 95, कर्नाटक में 50 लोगों की जानें गईं।

 

तमिलनाडु के नीलगिरि जिले में मंगलवार को 140 जगहों पर भूस्खलन हुआ। हालांकि, इससे कोई जनहानि नहीं हुई। मौसम विभाग ने केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु और महाराष्ट्र समेत समुद्र तटीय इलाकों के लिए अलर्ट जारी किया। अरब सागर क्षेत्र में 55 किमी की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना जताई गई। मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह भी दी गई।

 

कर्नाटक-केरल में 6 लाख से ज्यादा बेघर

केरल-कर्नाटक में 6 लाख से ज्यादा लोग बेघर हो गए, जबकि 2 हजार को राहत शिविर में पहुंचाया गया। वायुसेना ने कर्नाटक में 25 पर्यटक समेत 500 लोगों को एयरलिफ्ट कर बचाया। छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में केलो नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। जिला प्रशासन ने भारी बारिश के कारण स्कूल की छुट्टी घोषित कर दी। मध्यप्रदेश के मंदसौर में घरों में पानी भर गया। वहीं, हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में बाढ़ के कारण हाईवे पर आवागमन बाधित हो गया।

 

केरल के वायनाड में भूस्खलन से 12 की मौत

केरल के वायनाड जिले में भूस्खलन 12 लोगों की मौत हो गई, जबकि 7 अब भी गायब हैं। मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने कहा कि मलप्पुरम और वायनाड में भारी बारिश के बाद भूस्खलन में अब तक 43 की मौत हो चुकी। सांसद राहुल गांधी ने अपने लोकसभा क्षेत्र वायनाड पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आग्रह किया।

 

महाराष्ट्र के पुणे संभाग में 48 की मौत

महाराष्ट्र में पुणे संभाग में भारी बारिश और बाढ़ में अब तक 48 लोग जान गंवा चुके हैं। प्रशासन ने बताया कि पुणे, सांगली, कोल्हापुर, सतारा और सोलापुर जिले के 584 गांव से 4,74,226 लोगों को रेस्क्यू किया गया। इनके लिए 596 राहत शिविर बनाए गए। बाढ़ के कारण पुणे जिले के 46 गांवों से कनेक्शन टूट चुका है। मौसम विभाग के मुताबिक पांच जिलों पुणे, सांगली, कोल्हापुर, सतारा और सोलापुर में अगले 24 घंटे लगातार बारिश होने की संभावना है।

 

DBApp



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here