• कैंसर, बांझपन जैसी बीमारियों का गारंटी के साथ इलाज करने का दावा करता था
  • मरीज जहां दर्द बताता था, वहीं पर लगा देता था इंजेक्शन; खुद को बताता था एमबीबीएस-एमएस
  • स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने जब उससे अंग्रेजी में डॉक्टर लिखने को कहा तो वो ये भी नही लिख सका

Dainik Bhaskar

Sep 01, 2019, 04:58 PM IST

इंदौर. गौतमपुरा में पुलिस ने रविवार को एक फर्जी डॉक्टर को गिरफ्तार किया। यह फर्जी डॉक्टर 5वीं फेल है। लेकिन, वह खुद को एमबीबीएस और एमएस डिग्री होल्डर बताता था। जब उससे पुलिस ने एमबीबीएस का फुल फॉर्म पूछा तो वह यह भी नहीं बता पाया। आरोपी का नाम खलील अहमद है।

 

पुलिस के मुताबिक, खलील अहमद की गौतमपुरा में बाग इलाके पर खालिद आर्थोपेडिक क्लीनिक के नाम से दुकान है। बोर्ड पर उसने बांझपन से लेकर कैंसर तक के इलाज का दावा गारंटी के साथ कर रखा है। शनिवार को एक शिकायत पर पुलिस ने स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ क्लीनिक पर छापा मारा। 

 

किस बीमारी में कौन सी दवा दी जाती है, नहीं पता था

पुलिस ने जब खलील अहमद से मेडिकल की डिग्री के बारे में पूछा तो वह हड़बड़ा गया। उसका मेडिकल काउंसिल का रजिस्ट्रेशन भी नही था। क्लीनिक में जो दवाइयां मिली उनका उपयोग किस बीमारी में किया जाता है वह इसका जवाब भी नही दे पाया। सिर्फ यही नहीं, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने जब उससे अंग्रेजी में डॉक्टर लिखने को कहा तो वो ये भी नही कर पाया।

 

फर्जी डॉक्टर ने पुलिस को बताया कि वह 5वीं फेल है। बंगाल में किसी डॉक्टर की क्लीनिक पर बैठता था। उसे क्लीनिक खोलने का आइडिया आया। इसके बाद उसने गौतमपुरा में क्लीनिक खोल मरीजों का इलाज शुरू किया।

 

तंत्र-मंत्र से भी करता था इलाज

जांच में यह बात भी सामने आई है कि मरीज को जहां दर्द होता था यह उसी जगह पर इंजेक्शन लगाकर उपचार करता था। इसके साथ ही डॉक्टर द्वारा तंत्र-मंत्र किए जाने की बात भी सामने आई है। फर्जी डॉक्टर के क्लीनिक को सील कर आरोपी के खिलाफ धारा 420 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here