Dainik Bhaskar

Sep 02, 2019, 03:39 PM IST

तिरुवनंतपुरम. ओणम केरल का प्रमुख त्योहार है। इस बार यह त्योहार 1 से 13 सितंबर तक चलेगा। इस त्योहार की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इस दिन लोग मंदिरों आदि में पूजा-अर्चना नहीं करते, घर में ही पूजा करते हैं। मान्यता है कि केरल में महाबली नाम का एक असुर राजा था, जिसके सम्मान में लोग ओणम पर्व मनाते हैं। लोग इसे फसल और उपज के लिए भी मनाते हैं। इस दौरान सर्प नौका दौड़ के साथ कथकली नृत्य और गाना भी होता है।

 

इस त्योहार के पहले 8 दिन फूलों की सजावट का कार्यक्रम चलता है। 9वें दिन हर घर में भगवान विष्णु की मूर्ति बनाई जाती है। रात को गणेशजी और श्रावण देवता की मूर्ति बनाई जाती है। बच्चे वामन अवतार के पूजन के गीत गाते हैं। मूर्तियों के सामने मंगलदीप जलाए जाते हैं। पूजा-अर्चना के बाद मूर्ति विसर्जन किया जाता है।

 

DBApp



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here