RSS ने फडणवीस को दी नसीहत, शिवसेना के बगैर महाराष्ट्र में नहीं बनाई जाएगी सरकार

महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए बीजेपी-शिवसेना में कोशिशें जारी

आरएसएस (RSS) से जुड़े सूत्रों के मुताबिक मोहन भागवत (Mohan Bhagwa) ने देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) को स्पष्ट रूप से कहा, अगर शिवसेना (Shiv sena) एनसीपी-कांग्रेस से समर्थन हासिल कर रही है, तो उन्हें उन्हें आगे बढ़कर सरकार बनाने देना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated:
    November 7, 2019, 7:51 AM IST

नई दिल्ली. महाराष्ट्र (Maharashtra) के विधानसभा चुनाव (Assembly election ) के नतीजे आने के बाद से ही सरकार बनाने को लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) और शिवसेना (Shiv sena) में गतिरोध जारी है. दोनों ही पार्टियां सीएम पद को लेकर बयानबाजी कर रही हैं. महाराष्ट्र में सरकार बनाने की खींचतान के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को स्पष्ट रूप से कह दिया है कि वह शिवसेना के बिना सरकार बनाने का दावा नहीं करेंगे. सीएम फडणवीस और केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार रात नागपुर में संघ मुख्यालय में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की थी.

आरएसएस से जुड़े सूत्रों के मुताबिक भागवत ने फडणवीस को स्पष्ट रूप से कहा, अगर शिवसेना एनसीपी-कांग्रेस से समर्थन हासिल कर रही है, तो उन्हें उन्हें आगे बढ़कर सरकार बनाने देना चाहिए. मुंबई मिरर के मुताबिक, भागवत ने कहा, विपक्ष में बैठकर लोगों की सेवा करने के लिए तैयार रहें, लेकिन विधायकों की खरीद-फरोख्त जैसी अपवित्र राजनीति में किसी भी प्रकार से शामिल न हों. उन्होंने नसीहत देते हुए कहा कि इस तरह की राजनीति लंबे समय तक पार्टी के हित में नहीं है. शिवसेना नेता किशोर तिवारी ने सोमवार को भागवत को पत्र लिखा था और उनसे भाजपा और शिवसेना के बीच सत्ता के बंटवारे को लेकर चल रही खींचतान में हस्तक्षेप करने को कहा था.

इसे भी पढ़ें :- महाराष्ट्र: सरकार बनाने का आज है आखिरी दिन, शिवसेना और बीजेपी ने मांगा राज्यपाल से वक्त

भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि पार्टी का मानना ​​है कि शिवसेना के बिना दावा करने का कोई सवाल ही नहीं है। 2014 में स्थिति अलग थी, हमने अलग से चुनाव लड़ा था. इस बार हमने भाजपा-शिवसेना गठबंधन के नाम पर वोट मांगे हैं. आरएसएस की सलाह और हमारी रणनीति में किसी प्रकार का कोईग द्वंद्व नहीं है. महाराष्ट्र के वित्त मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता सुधीर मुनगंटीवार ने कहा, सरकार के गठन के बारे में कई कहानियां मीडिया में चल रही हैं. आरएसएस के मुख्यालय में फडणवीस का दौरा केवल आरएसएस नेतृत्व को स्थिति से अवगत कराने के लिए था.इसे भी पढ़ें :- RSS ने नितिन गडकरी को सौंपा शिवसेना से विवाद सुलझाने का जिम्मा

भाजपा और शिवसेना को 161 सीटें मिली
गौरतलब है कि 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा के हाल ही में घोषित चुनाव नतीजों में कोई भी पार्टी अकेले 145 सीटों के बहुमत के आंकड़े तक नहीं पहुंच पाई. इसके चलते सरकार गठन में देर हो रही है. चुनाव में भाजपा को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटों पर जीत हासिल हुई है. गठबंधन कर चुनाव लड़ी बीजेपी और शिवसेना को 161 सीटें मिली हैं. महाराष्ट्र विधानसभा का मौजूदा कार्यकाल नौ नवंबर को खत्म हो रहा है.

इसे भी पढ़ें :- कहीं इन आंकड़ों में तो नहीं छुपा है शिवसेना की बेचैनी का राज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: November 7, 2019, 7:51 AM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here