• पीड़िता ने कहा- शाहजहांपुर के डीएम और एसपी ने केस दर्ज कराने पर परिवार को धमकाया
  • छात्रा ने कहा- सरकार से इंसाफ की उम्मीद नहीं, प्रशासन चिन्मयानंद के दबाव में है
  • सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गठित एसआईटी इलाहाबाद हाईकोर्ट की निगरानी में जांच करेगी

Dainik Bhaskar

Sep 09, 2019, 06:43 PM IST

शाहजहांपुर. पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री और भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली छात्रा सोमवार को पहली बार मीडिया के सामने आई। पीड़िता ने कहा कि चिन्मयानंद ने एक साल तक उसका यौन शोषण किया। उसने शाहजहांपुर के डीएम और पुलिस अधिकारियों पर परिवार को धमकाने का आरोप भी लगाया है। छात्रा का कहना है कि पुलिस केस दर्ज नहीं कर रही थी तो दिल्ली में जीरो एफआईआर करानी पड़ी। अब इसे जांच के लिए शाहजहांपुर ट्रांसफर किया जाए।

 

  • छात्रा ने बताया कि जब उसके पिता ने थाने में चिन्मयानंद के खिलाफ शिकायत दी तो डीएम ने फोन कर कहा था कि आपको पता है किस पर मुकदमा दर्ज करवा रहे हो। पीड़िता ने डीएम पर कार्रवाई की मांग की है। उसने कहा कि एसआईटी ने मुझसे 8 घंटे पूछताछ की, लेकिन आरोपी से अब तक कोई पूछताछ क्यों नहीं हुई।
  • पीड़िता ने कहा कि उसे उत्तर प्रदेश सरकार पर भरोसा नहीं है। पुलिस चिन्मयानंद के खिलाफ रेप का मुकदमा दर्ज नहीं कर रही है। मेरे परिवार की जान को खतरा है। स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ यौन उत्पीड़न करने के सारे सबूत हैं। इन्हें कोर्ट में पेश करूंगी। स्वामी की धमकी के बाद ही उसने दिल्ली और राजस्थान में शरण ली थी। 

 

पीड़ता के पिता बोले- चिन्मयानंद का असली चेहरा सामने आएगा

छात्रा के पिता ने कहा कि उन्होंने स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ आर-पार की लड़ाई लड़ने का फैसला कर लिया है। चिन्मयानंद के असली चेहरे को सबके सामने लाकर रहूंगा। उन्होंने सरकार और प्रशासन पर चिन्मयानंद के दबाव में काम करने का आरोप लगाया। 

 

छात्रा ने सुप्रीम कोर्ट से कहा था- घर वापस नहीं जाना चाहती

  • सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई करते हुए वकील से छात्रा की लोकेशन के बारे में जानकारी मांगी थी। इसके बाद योगी सरकार को लड़की को पेश करने का निर्देश दिया था। 30 अगस्त को पुलिस ने छात्रा को राजस्थान से बरामद किया था। बाद में पुलिस ने उसे सुप्रीम कोर्ट में पेश किया गया। इस दौरान छात्रा ने कहा था कि वह घर वापस जाना नहीं चाहती और उसके परिजनों को भी दिल्ली बुला लिया जाए।
  • सुप्रीम कोर्ट ने छात्रा को सुरक्षा मुहैया कराने का भी निर्देश दिया था।। वहीं, दूसरी तरफ छात्रा का मामला सामने आने के बाद चिन्मयानंद के वकील ने पांच करोड़ की रंगदारी मांगने के मामले में अज्ञात पर केस दर्ज करवाया था। छात्रा शहजहांपुर में एसएस लॉ कॉलेज की छात्रा है। यह कॉलेज चिन्मयानंद का है।

 
वीडियो जारी कर छात्रा ने लगाए थे आरोप

पिछले महीने छात्रा ने एक वीडियो जारी कर चिन्मयानंद पर आरोप लगाए थे। वीडियो में उसने कहा था, ”मैं एसएस लॉ कॉलेज में पढ़ती हूं। एक बहुत बड़ा नेता बहुत लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर चुका है। मुझे और मेरे परिवार को भी जान से मारने की धमकी देता है। मैं इस टाइम कैसे रह रही हूं, मुझे ही पता है। मोदी जी प्लीज… योगी जी प्लीज मेरी हेल्प करिए आप। वह संन्यासी, पुलिस और डीएम सबको अपनी जेब में रखता है। धमकी देता है कि कोई मेरा कुछ नहीं कर सकता। मेरे पास उसके खिलाफ सारे सबूत हैं। आपसे अनुरोध है कि मुझे इंसाफ दिलाएं।”

DBApp

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here